EPFO की ब्याज दरों में बढ़ोत्तरी, 5 करोड़ कर्मचारियों को होगा फायदा

बिजनेस डेस्कःचुनाव से ठीक पहले मोदी सरकार ने एक और बड़ा तोहफा दिया है। चालू वित्त वर्ष के लिए PF की ब्याज दर 0.10 फीसदी बढ़ाकर 8.65 फीसदी कर दी गई है। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के ट्रस्टीज की बैठक में यह निर्णय लिया गया है। EPFO ने 2017-18 में भी अपने अंशधारकों को 8.55 फीसदी ब्याज दिया था। ब्याज दर में इस बढ़ोतरी का फायदा 5 करोड़ पीएफ सब्सक्राइबर्स को मिलेगा।

आंकडों के अनुसार 2018 में ब्याज दरें 8.55 थी। इसके हिसाब से हर महीने 2000 रुपए पी.एफ कटता है तो महीने का ब्याज 171 रूपए बनता है यानि साल का कुल 2,052 रूपए का फायदा आपको मिलता था वहीं अब जब ब्याज दरें 10 प्रतिशत बढ़कर 8.65 हो गई है है तो हर महीने 180.03 ब्याज लगेगा जिस हिसाब से साल का 2,076  मिलेगा।

पिछले 5 वित्त वर्षों में क्या रही ब्याज दर
2017-18 में पीएफ पर ब्याज दर 8.55 फीसदी रही थी वहीं 2016-17 में 8.65 फीसदी और 2015-16 में 8.8 फीसदी ब्याज दिया गया था। 2013-14 और 2014-15 में ब्याज दर 8.75 फीसदी थी। 
 

वित्त वर्ष  ब्याज दर
2012-13   8.50%
2013-14   8.75%
2014-15  8.75%
2015-16 8.80%
2016-17 8.65%
2017-18  8.55%
2018-19 8.65%

 


5 करोड़ कर्मचारियों को होगा फायदा
 ब्याज दर बढ़ने के फैसला से EPFO से जुड़े करीब 5 करोड़ कर्मचारियों को सीधे तौर फायदा होगा। इस फैसले के सियासी मायने भी हो सकते हैं क्योंकि इसी साल यानी 2019 में लोकसभा चुनाव भी होने हैं और दरे बढ़ने से  कर्मचारियों को सरकार की तरफ से बहुत बड़ा तोहफा मिल गया है। 

 

Related Stories:

RELATED अप्रैल में फिर घट सकती है ब्याज दर, होम लोन ग्राहकों को फिर मिल सकती है राहत