खिचड़ी के साथ बन रहा है ये दुर्लभ संयोग, आज ही कर लें उपाय

ये नहीं देखा तो क्या देखा(video)
हर साल पौष मास की नवमी तिथि को पूरे देश में मकर संक्रांति का पर्व मनाया जाता है। बता दें कि ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जब सभी ग्रहों का राजा सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है तब मकर संक्रांति का ये पर्व मनाया जाता है। कहा जाता है कि सूर्य के इस परिवर्तन का सभी राशियों पर प्रभाव पड़ता है। लेकिन इसके साथ ही कुछ नक्षत्रों में भी बदलाव होता है, जिसके बारे में बहुत कम लोग जानते हैं। तो चलिए आपको बताते हैं कि मकर संक्रांति पर सूर्य के साथ-साथ कौन से नक्षत्र में बदलाव हो रहा है और उनके इस बदलाव से कौन सा योग बन रहा है।


महान विद्वानों के अनुसार 15 जनवरी, पौष शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि यानि मंगलवार, मकर संक्रांति की दोपहर 01 बजकर 56 मिनट से शुरू होकर 16 जनवरी की दोपहर 01 बजकर 40 मिनट रवि योग बन रहा है। माना जा रहा है कुछ नक्षत्रों के बदलाव के चलते ये योग बना है। इसके अलावा 16 जनवरी की सुबह 05 बजकर 37 मिनट तक साध्य योग रहेगा। इन दोनों योग के साथ ही आज दोपहर 01 बजकर 56 मिनत तक अश्विनी नक्षत्र भी रहेगा। बता दें रवि योग उन लोगों के लिए बहुत लाभदायक साबित हो सकता है जिनके कई ज़रूरी काम अटके हुए हैं, इसके अलावा साध्य योग विद्यार्थियों के लिए लाभ लेकर आया है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कुल 27 नक्षत्र होते हैं, जिनमें से सबसे पहला नक्षत्र अश्विनी को माना जाता है। कहा जाता है कि ये नक्षत्र कृषि  संबंधित काम करने के लिए, दूर की यात्रा करने के लिए और हर रूके हुए काम को पूरा करने के लिए बहुत शुभ होता है। तो चलिए जानते हैं इस नक्षत्र में आपको कौन से उपाय करने चाहिए जिससे आपके रुके हुए सारे काम जल्दी ही बन जाएं। 

जिन लोगों के ज़रूरी काम कई सालों से अटके पड़े हैं और उनके लाख कोशिश करने के बाद भी उन्हें सफलता नहीं मिल रही तो उन्हें आज के दिन तिल के लड्डुओं के मंदिर में दान करें। संभव हो तो आज के दिन गरीबों को भी जितना हो सके दान करें। 

किसी उच्च पद को पाना चाहते हैं, उस पर अपना अधिकार करना चाहते हैं तो आज के इस शुभ दिन केले का पत्ता लेकर उसे शुद्ध से धोकर उस पर सिंदूर से स्वास्तिक बनाएं फिर उस पर सफ़ेद तिल रखकर मंदिर में अर्पित करें। इससे आपकी हर इच्छा पूर्ण होगी। 

जिन लोगों का व्यापार मंदा चल रहा है, या लंबे समय में उन्हें बिज़नेस में कोई बड़ी सफलता हासिल नहीं हुई उनके लिए बहुत ही सरल उपाय है कि वो भतीजे या भांजे को कुछ गिफ्ट करें और ध्यान रहे गिफ्ट के साथ कोई मीठी चीज़ ज़रूर दें। 

अगर मैरिड लाईफ में समस्याएं पैदा हो रही हैं तो आज के दिन गरीबों में कंबल का दान अवश्य करें। इससे आपके वैवाहिक जीवन में मधुरता बढ़ेगी।  

अक्सर देखने में मिलता है बच्चों का अपने माता-पिता से रिश्ता वैसा नहीं रहा जो पिछले ज़माने में हुआ करता था। लेकिन इसके पीछे जितनी गलती बच्चों की होती है उतनी ही उनके मां-बाप की। क्योंकि वो अपने बड़े-बुजुर्गों को समय और इज्जत नहीं देते। जिस कारण उनके बच्चे उनके साथ अपना रिश्ता मज़ूबत नहीं कर पाते। तो अगर आप चाहते हैं कि आपके बच्चों का आप के साथ रिश्ता गहरा और प्यार भरा हो तो आज के इस खास दिन अपने बड़े-बुजुर्गों की सेवा करें। 

जीवन में तरक्की पाने के लिए आज ब्राह्मण को चावल दान करें। इस उपाय से आपको सभी कामों में सफलता मिलेगी। 

हर काम में जीवनसाथी का साथ पाने के लिए आज केतु के इस मंत्र का 21 बार जप करें। मंत्र है- ‘ॐ स्रां स्रीं स्रौं स: केतवे नम: ।

धन की हानि से बचने के लिए आज तिल मिले रोटी कुत्ते को खिलाएं। इस उपाय को करने आपकी धन हानि धन लाभ में बदल जाएगी। 

जिन लोगों के जीवन में प्यार की कमी है वो आज के दिन मछलियों को 21 आटे की गोलियां खिलाएं। इससे आपके जीवन में प्यार के साथ-साथ शौहरत भी प्राप्त होती है। 
कब है मकर संक्रांति 14 या 15, जानिए क्यों खाई जाती है इस दिन खिचड़ी ?(video)

Related Stories:

RELATED मौनी अमावस्या: 5 फरवरी तक बना रहेगा ये दुर्लभ संयोग