आत्मरक्षा को विद्यालयों के पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाने की योजना बना रही है सरकार

मुंबई:महाराष्ट्र सरकार राज्य के विद्यालयों में आत्म रक्षा (सेल्फ डिफेंस) को पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाने पर विचार कर रही है। महाराष्ट्र के शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े ने पुणे की आत्म रक्षा प्रशिक्षक नेहा श्रीमल की ऑनलाइन याचिका पर जवाब देते हुए यह आश्वासन दिया। चेंज डॉट ओआरजी पर बीते साल सितंबर में दायर याचिका में सात साल की बच्ची की मां श्रीमल ने मांग की थी कि राज्य के सभी विद्यालयों में आत्म रक्षा के प्रशिक्षण को अनिवार्य किया जाए। इस याचिका के समर्थन में 1 लाख 38 हजार से ज्यादा लोगों ने हस्ताक्षर किये थे।      

श्रीमल ने याचिका में 18 वर्षीय युवती का उदाहरण दिया है कि किस तरह उसने पश्चिम बंगाल के वीरभूम जिले में उसका उत्पीडऩ करने वाले तीन व्यक्तियों को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया था। उन्होंने याचिका में कहा, इस बहादुर छात्रा ने दिखाया कि लड़कियों को बिना डरे आत्मविश्वास के साथ इस तरह के हालात का सामना करने के लिये सशक्त बनाया जा सकता है।     
     
     

Related Stories:

RELATED सरकार सुन लो फरियाद, सरकारी स्कूलों में भरो रैगुलर स्टाफ