ब्रिटेनः सिख सैनिक के खून में कोकीन की पुष्टि, किया जा सकता है बर्खास्त

लंदनः ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के जन्मदिन समारोह के अवसर पर वार्षिक परेड के दौरान पगड़ी पहनने वाले पहले सिख  22 वर्षीय सिख चरणप्रीत सिंह लाल के सैनिक परीक्षण दौरान उनके खून में भारी मात्रा में कोकीन होने की पुष्टि हुई है जिसके बाद उन्हें पद से हटाया जा सकता है।


ब्रिटेन की रानी एलिजाबेथ द्वितीय ने अपना 92वां जन्मदिन मनाया था जिसका आकर्षण का केन्द्र चरणप्रीत सिंह लाल रहा था। इस खबर से हर कोई अचंभित है। वह किसी तरह सुर्खियों में आ गए थे और अब शर्मदिंगी का सामना करना पड़ रहा है।’’ लाल उन तीन सैनिकों में शामिल हैं जो विंडसर के विक्टोरिया बैरक में परीक्षण के दौरान असफल रहे।  लाल का जन्म पंजाब में हुआ था। उनके माता-पिता उन्हें बचपन में ही लेकर ब्रिटेन चले गए थे। बाद में वह जनवरी 2016 में ब्रिटिश सेना में शामिल हुए थे।

हो सकता है बर्खास्त
रिपोर्ट में बताया गया है, ‘‘यह उनके कमांडिंग अधिकारी पर निर्भर करता है कि वह उन्हें बाहर करते हैं या नहीं हालांकि अगर कोई भी क्लास ए का मादक पदार्थ सेवन करता हुआ पाया जाता है तो उसे बर्खास्त किए जाने की संभावना रहती है।’’ हालांकि, द सन ने खबर दी है कि पिछले सप्ताह वह अपनी बैरक में औचक ड्रग परीक्षण के दौरान मादक पदार्थ की जांच में असफल रहे। आंतरिक सूत्रों ने दावा किया कि उन्होंने बड़ी मात्रा में कोकीन ली थी।

इस तरह आए थे सुर्खियो में 
चरणप्रीत जनवरी 2016 में ब्रिटिश सेना में नियुक्त हुए थे। परेड में जहां बाकी सभी सैनिकों ने बियरस्किन वाली परंपरागत काली टोपी पहनी थी वहीं चरणप्रीत ने अपनी काली टोपी पहनी थी, जिसमें एक स्टार भी लगा था। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि ब्रिटिश सेना में पगड़ी पहनकर हिस्सा बनना मेरे लिए गौरवपूर्ण बात है। यह मेरे लिए जितना बड़ा गौरव है उम्मीद है बाकी लोग भी इससे खुश होंगे।

Related Stories:

RELATED यमन में पड़ सकता है पिछले 100 वर्षों का सबसे भयंकर अकाल : संयुक्त राष्ट्र