आज से होगा फाल्गुन माह का आरंभ, इन व्रत और त्योहारों की रहेगी बहार

ये नहीं देखा तो क्या देखा (Video)


हिंदू पंचांग देसी महीनों के आधार पर बना होता है। उसके अनुसार ही हिंदू अपने व्रत और त्योहार मनाते हैं। आज आखिरी महीना फाल्गुन आरंभ होने जा रहा है। अंग्रेजी कैलेंडर की मानें तो 1 फरवरी से लेकर 2 मार्च तक फाल्गुन माह रहने वाला है लेकिन हिंदू पंचांग के अनुसार 20 फरवरी से आरंभ होकर 21 मार्च, बृहस्पतिवार तक रहेगा। इसके बाद चैत्र महीने के साथ हिंदू नववर्ष का आरंभ होगा।

इस महीने में ऋतु परिवर्तन भी होता है। अच्छी सेहत के लिए खाने-पीने और लाइफस्टाइल में बदलाव करना अवश्यक है। प्रकृति में जोश और आनंद रहता है इसलिए कुदरती भोज्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए जैसे फल और स्लाद। अनाज का प्रयोग जितना कम करें उतना अच्छा है। धार्मिक दृष्टि से इस महीने का बहुत महत्व है। कुछ विद्वानों के अनुसार फाल्गुन में चंद्र देव का जन्म हुआ था इसलिए इस महीने में चंद्र देव की पूजा शुभ मानी जाती है। भगवान श्री कृष्णचन्द्र को ये महीना बहुत प्यारा है, तभी तो ब्रज नगरी की होली विश्व प्रसिद्ध है। फाल्गुन माह में आएगी इन व्रत और त्योहारों की बहार-

जानकी जयंती- 26 फरवरी को फाल्गुन माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि है। इस दिन को सीता जयंती अथवा सीता अष्टमी के रुप में मनाया जाता है। कहते हैं इस रोज माता सीता का प्राकट्य हुआ था।

विजया एकादशी-फाल्गुन के कृष्ण पक्ष की एकादशी को विजया एकादशी कहा जाता है। इस बार ये एकादशी 2 मार्च को है। भगवान विष्णु का आशीर्वाद प्राप्त करने का ये व्रत सबसे आसान तरीका है।

महाशिवरात्रि-सोमवार, 4 मार्च को महाशिवरात्रि का व्रत आएगा। ये भगवान शिव के प्रिय दिनों में से एक है। कहते हैं इस दिन की गई पूजा और व्रत साल भर का पुण्य देते हैं।

फाल्गुनी अमावस्या-धार्मिक दृष्टि से इस तिथि का बहुत महत्व है। अपने पूर्वजों के लिए दान-तर्पण करना बहुत शुभ रहता है।

आमलकी एकादशी-फाल्गुन के शुक्ल पक्ष की एकादशी को आमलकी एकादशी कहा जाता है। इस बार ये एकादशी 17 मार्च को है।

होली-फाल्गुन मास में फाल्गुनी नक्षत्र रहता है इसलिए इस महीने में आने वाली पूर्णिमा को फाल्गुनी पूर्णिमा कहते हैं। इस दिन रंगों का त्योहार होली मनाया जाता है। बुधवार, 20 मार्च की शाम होलिका पूजन के बाद होलिका दहन किया जाएगा। बृहस्पतिवार, 21 मार्च को सुबह रंगों से होली खेली जाएगी।

कुंभ के बारे में कितना जानते हैं आप !

Related Stories:

RELATED Holi Special: रंगों वाली होली जाएंगे भूल अगर देखें विदेश के 10 फेस्टिवल