‘आयुष्मान भारत योजना’ का विशेषज्ञों ने किया स्वागत

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (पीएमजेएवाई)- आयुष्मान भारत की शुरूआत के साथ ही स्वास्थ्य निकायों और विशेषज्ञों ने रविवार को कहा कि यह भारत में स्वास्थ्य देखभाल में आवश्यक और 'क्रांतिकारी' परिवर्तन लाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को आयुष्मान भारत योजना शुरू की। इसके तहत प्रति परिवार सालाना पांच लाख रुपये का कवरेज मिलेगा । इस योजना से कम से कम 50 करोड़ लोगों को फायदा पहुंचेगा।



अपोलो अस्पताल समूह के अध्यक्ष प्रताप सी रेड्डी ने इस ‘ऐतिहासिक’ पहल के शुभारंभ के लिए प्रधानमंत्री को बधाई दी और कहा, हालांकि हम सभी इस योजना की सफलता सुनिश्चित करने के लिए मिलकर काम करेंगे लेकिन कुछ ऐसे क्षेत्र हैं जहां फोकस और बढ़िया ट्यूनिंग की आवश्यकता है।’’ रेड्डी ने कहा कि उनका मानना ​​है कि यह योजना बड़े पैमाने पर अवाम के लिए है और सबको इसकी सफलता सुनिश्चित करने का प्रयास करना चाहिए।



प्रधानमंत्री ने रविवार को इस योजना की शुरूआत करते हुए इसे गरीबों की सेवा के लिए परिदृश्य बदलने वाला पहलÞ करार दिया। दूसरी ओर भारत हेल्थकेयर फेडरेशन ने कहा कि केंद्र की इस योजना की शुरूआत भारतीय हेल्थकेयर सेक्टर के सभी हितधारकों के बीच सहयोग की गवाही है।  फेडरेशन के अध्यक्ष दलजीत सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री ने देश को ऐसी स्वास्थ्य बीमा योजना का उपहार दिया है जिससे देश भर में 50 करोड़ लोग लाभान्वित होंगे। प्रधानमंत्री ने रविवार को कहा कि यह स्वास्थ्य योजना आज (रविवार) से लागू होगा। आयुष्मान भारत दुनिया भर में सरकार प्रायोजित सबसे बड़ी योजना है। इससे लाभान्वित होने वालों की संख्या अमेरिका, कनाडा और मैक्सिको की आबादी के बराबर होगी।



रेलीगेयर स्वास्थ्य बीमा के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी अनुज गुलाटी ने कहा, हम पूरी तरह से इस प्रशंसनीय योजना का स्वागत करते हैं और प्रधानमंत्री को हार्दिक बधाई देते हैं।’’ आयुष्मान भारत योजना की शुरूआत पर महाराष्ट्र के राज्यपाल सी विद्यासागर राव ने रविवार को कहा कि इस योजना के तहत राज्य की 90 फीसदी आबादी लाभान्वित होगी।



राव ने कहा कि प्रदेश के 83.71 लाख परिवार इस योजना के दायरे में आयेंगे और इससे लाभान्वित होंगे। महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चव्हाण ने आरोप लगाया कि इस योजना से केवल निजी बीमा कंपनियों को फायदा पहुंचेगा। उन्होंने आरोप लगाया कि आयुष्मान भारत योजना संप्रग सरकार की योजना का नाम बदल कर दोबारा शुरूआत करने का राजग सरकार का एक और प्रयास है।

Related Stories:

RELATED BJP ने उड़ाया विपक्षी दलों की बैठक का मजाक, कहा- पहले PM उम्मीदवार का नाम घोषित करें