क्रिकेटर के अलावा ये भी है क्रिकेट में बेहतरीन करियर विकल्प

नई दिल्ली :वैसे तो हर खेल का अपना ही एक अलग मजा होता है और हर किसी को अपनी रुचि के हिसाब से कोई ना कोई खेल पसंद है। लेकिन हमारे देश भारत में क्रिकेट एक ऐसा खेल है जिसे देखना और खेलना बर कोई पसंद करता है। क्रिकेट  देश में धर्म की तरह है । बहुत सारे लोग क्रिकेट  खिलाडियों को भगवान तक का दर्जा देते है औऱ बहुत सारे युवा अपने फेवरेट खिलाड़ी की तरह बनना चाहते है। लेकिन बहुत सारे लोग क्रिकेट  में आगे नहीं बढ़ पाते है । लोग यह कह युवाओं को डरा देते है कि धोनी या कोहली बनना तुम्हारे बस की बात नहीं। खिलाड़ियों का उदाहरण दिया जाता है जो सालों की मेहतन के बाद भी सफल नहीं हो पाते। क्योंकि सभी के लिए उन 15 खिलाड़ियों की टीम जगह पाना मुमकिन नहीं है, लेकिन इसका मतलब यह  बिल्कुल नहीं कि आप इस फील्ड में अपना करियर नहीं बना सकते। आइए जानते है क्रिकेट से जुडे कुछ ऐसे करियर ऑपशन के बारे में जिनके जरिए आपने क्रिकेट  के पैशन को पूरा करने के साथ - साथ पैसा  और शोहरत भी पा सकते है 

कॉमेंट्री
यह खेल हर इलाके में सबसे चर्चित खेलों में से एक है। इसके बढ़ते दायरे की वजह से अब इस क्षेत्र में पेशेवर लोगों की मांग भी बढ़ी है। क्रिकेट से ही जुड़ा एक सबसे अहम काम है कॉमेंट्री का। अगर आपकी आवाज अच्छी है और आप क्रिकेट की बारीकियों से वाकिफ हैं तो आप एक बेहतर कॉमेंटेटर साबित हो सकते हैं।  एक कॉमेंटेटर अपनी आवाज से खिलाड़ी और दर्शकों में जोश भी भरता है। 

टीम फिजियो
आपने अगर फिजियोथेरेपी का कोर्स किया है और आप चाहते हैं कि आपको घर के आसपास ही नौकरी मिल जाए तो इसके लिए आपको अपने शहर के क्रिकेट क्लब से संपर्क करना चाहिए। दरअसल, बीते कुछ वर्षों में ऐसे क्लबों की संख्या हजारों में है जो अपने खिलाड़ियों को फिट रखने के लिए एक ट्रेंड फिजिथेरिप्सट नियुक्त कर रहे हैं।  क्लब इन्हें अच्छा वेतन भी देते हैं। लिहाजा आप भी अपनी दावेदारी पेश कर सकते हैं। 

क्रिकेट कोचिंग
इतना चर्चित खेल होने के बाद भी आज कोचिंग देने वालों की खासी कमी है। आपने अगर कभी जिला स्तर या स्टेट लेवल पर इस खेल को खेला है या फिर इस खेल की बारीकी आपको पता है तो आप युवाओं को कोचिंग भी दे सकते हैं। इसके लिए आपको सिर्फ अकादमी खोलना होगा।ऐसा करके आप सालाना लाखों रुपये कमा सकते हैं। 

अंपायरिंग 
इस खेल में अंपायर का बड़ा अहम रोल होता है। स्थानीय स्तर पर बेहतर अंपायर की जरूरत सबसे ज्यादा है। आपको अगर अंपायरिंग से जुड़ी अहम बातों की जानकारी है तो आप स्थानीय क्लब और बड़े टूर्नामेंट कराने वाले आयोजकों से संपर्क कर सकते हैं। अंपायरों को कौशल के आधार पर साल दर साल बेहतर पैकेज दिया जाता है। 

ग्राउंड स्टॉफ 
किसी भी मैदान को खेल के लिए तैयार करने की जिम्मेदारी होती है ग्राउंड स्टॉफ की। बगैर इनकी मेहनत के उस मैदान पर कोई भी मैच करा पाना संभव नहीं होता।  ग्राउंड स्टॉफ बनने के लिए आपका ज्यादा पढ़ा लिखा होना भी जरूरी नहीं है। आप इसके लिए अपने इलाके के क्लब या ग्राउंड मैनेजमेंट टीम के सदस्यों से संपर्क कर सकते हैं।

 

Related Stories:

RELATED IPL-12 : 20-20 लाख में बिके यह क्रिकेटर भी नहीं है कम, धूम मचाने का रखते हैं माद्दा