नए CBI चीफ की नियुक्ति से पहले राव ने किए 20 अधिकारियों के तबादले, 2जी केस के इन-चार्ज को भी हटाया

नई दिल्ली: सीबीआई के अंतरिम निदेशक नागेश्वर राव ने भारी फेरबदल करते हुए 20 अधिकारियों का तबादला कर दिया है। इन अधिकारियों में 2जी घोटाला मामले की जांच करने वाले अधिकारी विवेक प्रियदर्शी भी शामिल हैं। दिल्ली के भ्रष्टाचार निरोधी शाखा से तबादला करके प्रियदर्शी को चंडीगढ़ भेज दिया गया है। हालांकि तबादले के आदेश में यह स्पष्ट किया गया है कि संवैधानिक अदालतों के आदेश पर किसी भी मामले की जांच और निगरानी करने वाले अधिकारी अपने पद पर बने रहें।


आदेश के अनुसार, तमिलनाडु में स्टरलाइट-विरोधी प्रदर्शन गोलीबारी मामले की जांच कर रहे ए. सरवनन को मुंबई की बैंकिंग, प्रतिभूति और फर्जीवाड़ा जांच शाखा में भेजा गया है। यह शाखा हीरा व्यापारियों नीरव मोदी और मेहुल चोकसी सहित ऋण फर्जीवाड़ा करने वालों की जांच कर रही है। स्टरलाइट-विरोधी प्रदर्शन के दौरान पुलिस की गोलीबारी में 13 लोग मारे गए थे।

आदेश में कहा गया है कि सरवनन स्टरलाइट-विरोधी प्रदर्शन गोलीबारी मामले की जांच जारी रखेंगे। उसमें कहा गया है कि सीबीआई की विशेष इकाई में तैनात प्रेम गौतम को पदमुक्त कर दिया गया है। अभी तक उनका काम सतर्कता के लिए अधिकारियों पर नजर रखना था। वह आर्थिक मामलों की जांच जारी रखेंगे। उन्हें उपनिदेशक (कार्मिक) का अतिरिक्त प्रभार सौपा गया है। गौतम की जगह राम गोपाल को दी गई है। वह चंडीगढ़ विशेष अपराध शाखा से तबादले के बाद यहां आए हैं।

Related Stories:

RELATED उच्चतर न्यायपालिका में न्यायाधीशों की नियुक्ति में देरी नहीं कर रहा केन्द्र: सुप्रीम कोर्ट