बेटे के कांग्रेस में जाने के बाद अनिल शर्मा का बड़ा बयान (Watch Video)

मंडी (नीरज): ऊर्जा मंत्री अनिल शर्मा ने बेटे के कांग्रेस में जाने के बाद बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि वह भाजपा को नहीं छोड़ेंगे और यदि सरकार कहे तो वह अपने मंत्रीपद से इस्तीफा देकर सत्ता से बाहर हो जाएंगे। यह बात उन्होंने मंडी में पत्रकारों के साथ अनौपचारिक बातचीत में कही। बता दें कि आज ही इनका बेटा आश्रय शर्मा और पिता पंडित सुखराम कांग्रेस में शामिल हो गए हैं और कांग्रेस ने आश्रय शर्मा को मंडी संसदीय सीट से टिकट भी दे दिया है। इस पूरे घटनाक्रम के बाद अनिल शर्मा ने मीडिया से बातचीत की और अपनी बात रखी। 

अनिल ने कहा कि एक बाप होने के नाते वह कभी नहीं चाहेंगे कि उनका बेटा किसी भी क्षेत्र में पीछे रहे। साथ ही अनिल शर्मा ने यह भी स्पष्ट किया कि वह इस लोकसभा चुनाव में किसी के लिए भी प्रचार नहीं करेंगे और अपने छोटे बेटे आयुष शर्मा के पास मुंबई चले जाएंगे। अनिल शर्मा ने कहा कि उन्हें सत्ता का मोह नहीं है और यदि सरकार चाहे तो वह मंत्रीपद से इस्तीफा दे देंगे लेकिन एक भाजपा विधायक के नाते जनता की सेवा करते रहेंगे क्योंकि भाजपा के टिकट पर ही उन्होंने विधानसभा का चुनाव लड़ा और जीता है। अनिल शर्मा के अनुसार कांग्रेस में जाने का निर्णय उनके बेटे और पिता का था जबकि वह खुद दोबारा कांग्रेस में नहीं जाना चाहते थे।

उन्होंने बताया कि आश्रय शर्मा के कांग्रेस में जाने का घटनाक्रम करीब दो महीने पहले ही शुरू हो गया था और उस वक्त आश्रय ने राहुल गांधी से मुलाकात कर ली थी। अनिल शर्मा के अनुसार उन्होंने इसकी जानकारी सीएम जयराम ठाकुर को दी थी और उसके बाद जो भी हलचल हुई उसकी भी जानकारी वह सीएम को देते रहे। उन्होंने अपने बेटे को कांग्रेस पार्टी से टिकट मिलने पर शुभकामनाएं दी और उसके उज्जवल भविष्य की कामना की। उन्होंने आश्रय शर्मा को मान-सम्मान देने के लिए कांग्रेस हाईकमांड का आभार भी जताया।

 

Related Stories:

RELATED अनिल शर्मा जितना चुप रहेंगे, उतने ही सुखी रहेंगे: जयराम