भारत-मोरक्को के बीच समझौता, आपराधिक और कानूनी मामले में एक-दूसरे की करेंगे मदद

नई दिल्ली: भारत और मोरक्को ने आपराधिक मामलों में एक दूसरे की सहायता करने और जरूरत पड़ने पर कानूनी मदद प्रदान करने को लेकर एक समझौते पर दस्तखत किये। गृह मंत्रालय ने यह जानकारी दी। भारत की ओर से केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरेण रिजिजू और मोरक्को की ओर से न्याय मंत्री मोहम्मद औजर ने आपराधिक मामलों में आपसी कानूनी सहयोग पर समझौता किया।

गृह मंत्रालय के बयान में कहा गया कि समझौते से मोरक्को के साथ द्विपक्षीय सहयोग मजबूत होगा। अपराधों की रोकथाम, जांच और मुकद्दमे के लिए कानूनी ढांचा तैयार करने में मदद मिलने के साथ ही आतंकवादी कृत्यों को वित्तीय मदद का पता लगाने, रोकने और इसे जब्त करने में सहायता भी मिलेगी। बयान में कहा गया है कि दोनों मंत्रियों ने संगठित अपराध और आतंकवाद से पैदा होने वाली चुनातियों का संयुक्त तौर पर मुकाबला करने के प्रति संकल्प जताया।

Related Stories:

RELATED एक-दूसरे के साथ 1 फीसदी कारोबार भी नहीं करते भारत-पाकिस्तान