आज का पंचांग- 22 फरवरी, 2019

ये नहीं देखा तो क्या देखा (Video)

आज 22 फरवरी, 2019 की तृतीया तिथि है। इसकी स्वामी गौरी हैं। यह जया संज्ञक तिथि है। इस तिथि में जन्मा बच्चा टूरिज़्म सैर-सपाटे का शौकीन, सैल्फ रिस्पैक्गटिंग, बातचीत में परफैक्ट तथा एक्सपर्ट, सभा सोसायटी, महफिल में छा जाने वाला तथा कुछ इगोईस्ट होता है। इस तिथि को जन्मी कन्याओं के लिए गौरी की पूजा-अर्चना करना तथा मंगला गौरी जैसे व्रत रखना कल्याणकारी होता है।

नक्षत्र 
हस्त नक्षत्र का देवता सूर्य तथा स्वामी चंद्रमा है। हस्त नक्षत्र में जन्मा बच्चा कुछ आऊट स्पोकन, स्पष्टवादी, प्रैक्टिकल किस्म का होता है। म्यूजिक सुनने का शौकीन तथा उसके बारे में कुछ समझ तथा जानकारी रखने वाला होता है। व्हीकल स्वयं ड्राइव करना तथा फीमेल्स की कम्पनी पसंद करना भी उसका शौक होता है। पेट तथा स्किन प्रॉब्लम में ग्रस्त रहता है।

योग
शूल योग का स्वामी सर्प है। इस योग में जन्मा बच्चा शार्ट टैम्पर्ड, जल्द आपा खो देने वाला, कई बार सख्त तथा कटु वचन बोलने वाला, किसी की ज्यादती को न भूलने वाला होता है। कई ग्रंथकार इसे अशुभ फलकारक भी मानते हैं। भगवान शंकर की पूजा-अर्चना करना तथा चांदी एवं पंच धातु से बनी नाग-नागिन की जोड़ी शिवललिंग पर अर्पित करना ठीक रहता है।

करण
विष्टि करण का स्वामी यम तथा बव करण का स्वामी इंद्र है। विष्टि करण में जन्मा बच्चा कुछ सख्त तबीयत वाला, हार्ड लाइनर, गुस्सैल स्वभाव वाला, दूसरे के साथ जल्द समझौता या एडजस्टमैंट न करने वाला होता है। बव करण में जन्मा बच्चा जिम्स, हैल्थ क्लब्स, हैल्थ केयर के साथ सम्बद्ध कामों को पसंद करने वाला होता है। 

वार
शुक्रवार के देवता अधिदेवता इंद्र हैं। शुक्रवार जन्मा बच्चा चंचल, नटखट, ब्यूटी का दीवाना, कास्मैटिक्स इत्यादि ज्यादा यूज़ करने, डिजाइनर-फैशनेबल कपड़ों को पसंद करने, बनने-संंवरने में काफी टाइम लगाने वाला होता है। म्यूजि़क का शौकीन, अपोजिट सैक्स, विशेषकर महिलाओं की कम्पनी पसंद करने तथा उसमें खुश रहने वाला होता है।

सूर्योदय कालीन कुंडली
सूर्य       कुंभ में
चंद्रमा    कन्या में
मंगल    मेष में
बुध       कुंभ में
गुरु       वृश्चिक में
शुक्र      धनु में
शनि     धनु में
राहू      कर्क में
केतु      मकर में

दिशा शूल
पश्चिम एवं नैर्ऋत्य दिशा के लिए—इस दिशा की यात्रा न करें।

भद्रा काल
प्रात: 10.50 तक भद्रा रहेगी।

स्पैशल पर्व
श्री गणेश चतुर्थी व्रत। मौलाना आजाद पुण्यतिथि।

शुभ पंचांग
तारीख :
                        22 फरवरी, 2019
वार :                            शुक्रवार
अयन :                         उत्तरायण 
विक्रमी सम्वत् :            2075
विक्रमी फाल्गुन प्रविष्टे:  10
राष्ट्रीय शक सम्वत् :    1940
शक फाल्गुन तारीख :  3
हिजरी साल :            1440
महीना :                 जमादि उल्सानी, तारीख 16
पक्ष :                      फाल्गुन कृष्ण
तिथि :                    तृतीया (प्रात: 10.50 तक) तथा तदोपरांत तिथि चतुर्थी।
नक्षत्र  :                 हस्त (22-23 मध्य रात 12.18 तक) तथा तदोपरांत नक्षत्र चित्रा।
योग  :                  शूल (सायं 7.33 तक) तथा तदोपरांत योग गंड।
करण:                    विष्टि (प्रात: 10.50 तक) तथा तदोपरांत करण बव।
चंद्र राशि:               कन्या (पूरा दिन-रात)।
सूर्योदय/सूर्यास्त :    प्रात: 7.06/सायं 6.16 (जालन्धर समय)।
राहू काल:               प्रात:10.30 से दोपहर 12.00 बजे तक।

आज पैदा होने वाले बच्चों का नामाक्षर तथा भविष्यफल
समय- 
प्रात: 7.55 से लेकर सायं 6.50 तक
नामाक्षर-
यह बच्चा बैंकिंग, अकाऊंट्स, कामर्स, वकालत, ज्यूडिशियरी, के साथ जुड़ते प्रोफैशंस में इंट्रैस्ट रखने वाला, बड़े कारोबारी- बिजनैस हाऊसिस के साथ जन-सम्पर्क अधिकारी के तौर पर अटैच होने वाला होता है।

समय-सायं 6.51 से लेकर 22-23 मध्य रात 12.18 तक
नामाक्षर-
यह बच्चा एक्सपर्ट सेल्समैन, इम्पोर्ट-एक्सपोर्ट, कम्प्यूटर, एग्रीकल्चरल प्रॉडक्ट्स के साथ जुड़े कामों को पसंद करने वाला होता है। आफिस सैक्रेटरी,
रिस्पैशनिस्ट जैसे कामों में भी इंट्रैस्ट रख सकता है।

समय - 22-23 मध्य रात 12.19 से लेकर अगले दिन (23 फरवरी) प्रात: 5.50 तक
नामाक्षर-    पे
यह बच्चा बहुत क्लैवर, गवर्नमैंट डिपार्टमैंट्स तथा इंडस्ट्रियल हाऊसिस के मध्य मिडलमैन जैसे कामों में अच्छी सक्सैस पाने वाला होता है। वह चालू किस्म का भी व्यक्ति हो सकता है।


 

Related Stories:

RELATED पंचकूला में तंवर का एेलान, जनता तय करेगी कांग्रेस का मेनिफेस्टो