आज का पंचांग- 21 फरवरी, 2019

ये नहीं देखा तो क्या देखा (Video)


आज 21 फरवरी, बृहस्पतिवार की द्वितीया तिथि है। इसके स्वामी ब्रह्मा हैं। इस तिथि में जन्मा बच्चा एजुकेटिड, विद्वान, समझदार, पौराणिक लिटरेचर स्टडी करने का शौकीन, दूसरे के प्रति दयालु भाव रखने तथा दूसरे के दुख-दर्द तथा दूसरे की पीड़ा समझने वाला होता है। उसकी अपनी गृहस्थी सुख-साधनों से सम्पन्न होती है। पीपल-वट वृक्षों के पौधे लगाना सही रहता है।

नक्षत्र 
उत्तरा फाल्गुणी नक्षत्र के देवता अर्यमा तथा स्वामी सूर्य हैं। इस नक्षत्र में जन्मा बच्चा अपनी समझदारी, इंटैलीजैंस, क्लैवरनैस के कारण धन-दौलत तथा सम्पदा अर्जित करने वाला, बहुत टाकेटिव तथा अपनी बातों से दूसरे को प्रभावित करने वाला होता है। वह सिरदर्द, बैक बोन, हाई ब्लड प्रैशर जैसे रोग से ग्रस्त रहता है। सूर्य को जल देना तथा उसकी पूजा-अर्चना करना प्रशस्त रहता है।

 योग
धृति योग का स्वामी जल है। इस योग में जन्मा बच्चा वाटर, कोल्ड ड्रिंक्स, लिकर इत्यादि के साथ जुड़े काम-धंधे में अच्छी सक्सैस पाता है। वाटर गेम्स खेलने तथा नौका विहार करने तथा तैराकी करने का भी शौकीन होता है। उसे पानी से जुड़ी बीमारियों तथा डि-हाईड्रेशन जैसी तकलीफ से बचाव रखना चाहिए।

 करण
गर करण की स्वामी भूमि है। गर करण में जन्मा बच्चा लैंड्स-एग्रीकल्चरल लैंड हो या अर्बन लैंड-की सेल-परचेज, एग्रीकल्चरल प्रॉडक्ट्स की सेल-परचेज, सप्लाई, डिस्ट्रीब्यूशन के साथ जुड़ते काम-धंधे से अच्छा धनार्जित करने वाला होता है। हॉर्टिकल्चर तथा फूलों की काश्त के काम भी उसे सूट कर सकते हैं।

वार
बृहस्पतिवार के देवता अधिदेवता ब्रह्मा हैं। वीरवार जन्मा बच्चा वैल एजुकेटिड, टीचिंग, कोचिंग, ट्यूशनिंग, टैक्सट बुक्स राइटिंग, टैक्सट बुक्स पब्लिकेशन जैसे प्रोफैशंस को पसंद करने, धर्म परायणी, धार्मिक रीति-रिवाजों, परम्पराओं को मानने तथा निभाने वाला होता है। ब्रह्मा जी तथा बृहस्पति की पूजा-अर्चना करना, लाल, सफेद, पीले फूल देने वाले पौधों को लगाना तथा उसकी केयर करना कल्याणकारी रहता है।

सूर्योदय कालीन कुंडली
सूर्य       कुंभ में
चंद्रमा    सिंह में
मंगल    मेष में
बुध       कुंभ में
गुरु       वृश्चिक में
शुक्र      धनु में
शनि     धनु में
राहू      कर्क में
केतु     मकर में

दिशा शूल
दक्षिण एवं आग्नेय दिशा के लिए—इस दिशा की यात्रा त्याग दें।

भद्रा काल
21-22 मध्य रात 12.26 के उपरांत भद्रा लग जाएगी।

शुभ पंचांग
तारीख: 
                   21 फरवरी, 2019 
वार:                        बृहस्पतिवार
अयन:                       उत्तरायण 
विक्रमी सम्वत्:           2075
विक्रमी फाल्गुन प्रविष्टे: 9
राष्ट्रीय शक सम्वता:    1940
शक फाल्गुन तारीख:   2
हिजरी साल:            1440
महीना:                   जमादि उल्सानी, तारीख 15
पक्ष:                        फाल्गुन कृष्ण
तिथि    :                द्वितीया (बाद दोपहर 2.02 तक) तथा तदोपरांत तिथि तृतीया।
नक्षत्र    :                 उत्तरा फाल्गुनी (21-22 मध्य रात 2.26 तक) तथा तदोपरांत नक्षत्र हस्त।
योग    :                 धृति (रात 11.11 तक) तथा तदोपरांत योग शूल।
करण    :                गर (बाद दोपहर 2.02 तक) तथा तदोपरांत करण वणिज।
चंद्र राशि:                सिंह राशि पर (प्रात: 10.22 तक) तथा तदोपरांत राशि कन्या।
सूर्योदय/सूर्यास्त:      प्रात: 7.07/सायं 6.15 (जालन्धर समय)।
राहू काल:                दोपहर 01.30 से 03.00 बजे तक।

आज पैदा होने वाले बच्चों का नामाक्षर तथा भविष्यफल
समय -प्रात; 5.05 से लेकर प्रात: 10.22 तक
नामाक्षर-टे
यह बच्चा गुड लुकिंग, सैल्फ प्रेज करने तथा सुनने का शौकीन, साफ्ट-स्वीट स्पोकन, बहुत क्लैवर, होशियार, जमानासाज़, अपना काम निकलवाने के लिए हर हथकंडा, टैक्ट अपनाने वाला होता है।

समय-प्रात: 10.23 से लेकर बाद दोपहर 3.45 तक
नामाक्षर-टो
यह बच्चा अपनी इंटैलीजैंस, क्लैवरनैस से धन कमाने, शो-ऑफ व दिखावाबाजी का शौकीन, अफसरों तक पहुंच- अपरोच रखने वाला तथा सैल्फ प्रेज पसंद करने वाला होता है।

समय-बाद दोपहर 3.46 से लेकर रात 9.05 तक
नामाक्षर-
यह बच्चा नेचर से कुछ सफाई पसंद, वैल ड्रैस्ड रहने वाला, कामर्स, जर्नलिज़्म, अकाऊंट्स, कम्प्यूटर इंजीनियरिंग, एजुकेशन से सम्बद्ध प्रोफैशंस में इंट्रैस्ट रखने वाला होता है।

समय-रात 9.06 से लेकर  21-22 मध्य रात 2.26 तक
नामाक्षर- पी
यह बच्चा कम्युनिकेशन टैक्नॉलोजी, प्रिंटिंग, पब्लिकेशन, मैथेमैटिक्स, कामर्स जैसे प्रोफैशंस को पसंद करने, एस्ट्रोलॉजी साइंस में अच्छा इंट्रैस्ट  तथा जानकारी रखने वाला होता है।

समय- 21-22 मध्य रात 2.27 से लेकर अगले दिन (22 फरवरी) प्रात: 7.54 तक
नामाक्षर- पू
यह बच्चा रेडियो, टी.वी., स्टेज परफार्मैंस, एंकरिंग जैसे कामों में इंट्रैस्ट रखने वाला, टाकेटिव, बात के साथ बात को जोडऩे में एक्सपर्ट होता है। कई बार वह किसी बात पर भी अड़ सकता है।

कुंभ के बारे में कितना जानते हैं आप !

Related Stories:

RELATED आज का पंचांग- 21 मार्च, 2019