प्रदूषण ने रोकी दिल्ली की रफ़्तार, 600 वाहनों को नहीं मिला प्रवेश

नेशनल डेस्क: राष्ट्रीय राजधानी में बढ़ता वायु प्रदूषण अब जानलेवा होता जा रहा है। दिल्ली और उसके आसपास के इलाकों में लोगों को कई तरह की बीमारियों का सामना करना पड़ रहा है जिससे उनकी परेशानियां बढ़ रही हैं। इन्ही हालातों को देखते हुए रविवार को करीब 600 वाहनों को दिल्ली में प्रवेश की अनुमति नहीं दी गई। 



दिल्ली में प्रदूषण के बढ़े हुए स्तर के चलते एक दिन पहले ही पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण अधिकरण (ईपीसीए) ने ट्रकों के प्रवेश पर रोक 12 नवंबर तक बढ़ा दी थी। संयुक्त पुलिस उपायुक्त (यातायात) आलोक कुमार के मुताबिक 1,283 वाहनों की जांच की गई और 609 वाहनों को प्रवेश की अनुमति नहीं दी गई।    


उपायुक्त ने बताया कि जरूरी वस्तुएं ले जा रहे करीब 734 वाहनों को 10 नवंबर रात 11 बजे से 11 नवंबर की सुबह पांच बजे तक राष्ट्रीय राजधानी में प्रवेश की इजाजत दी गई थी। राष्ट्रीय राजधानी की वायु गुणवत्ता की समीक्षा करने वाले केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) नीत कार्यबल की अनुशंसाओं पर उच्चतम न्यायालय द्वारा नियुक्त एजेंसी ने दिल्ली में वाहनों के प्रवेश पर रोक की अवधि बढ़ा दी थी।


वही दिल्ली और उसके आस-पास के इलाकों में निर्माण कार्यों पर रोक लगाने का असर भी दिखाई दे रहा है। गाजियाबाद में कई बड़े प्रोजेक्ट बंद कर दिए गए हैं। इसमें राज नगर एक्सटेंशन चौराहा, वसुंधरा फ्लाईओवर, चंद्रशिला अपार्टमेंट, मधुबन बापूधाम, इंदिरापुरम में निर्माण कार्य रुक गया है। राज नगर एक्सटेंशन चौराहा और वसुंधरा फ्लाईओवर का निर्माण बंद कर दिया गया है। 

Related Stories:

RELATED दिल्ली में सांस लेना हुआ मुश्किल, कई इलाकों में 999 के पार पहुंचा प्रदूषण