खेल रत्न मिलते ही मुझे 2020 के ओलंपिक के लिए मिली नई ताकतः सरदार

Tuesday, August 29, 2017 6:49 PM
खेल रत्न मिलते ही मुझे 2020 के ओलंपिक के लिए मिली नई ताकतः सरदार

नई दिल्लीः देश के सर्वाेच्च खेल सम्मान राजीव गांधी खेल रत्न से सम्मानित हुए भारतीय हॉकी स्टार सरदार सिंह ने मंगलवार को कहा कि खेल रत्न से उन्हें 2020 के टोक्यो ओलंपिक के लिये नयी लाइफलाइन मिल गई है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से राष्ट्रपति भवन में खेल रत्न ग्रहण करने के बाद पूर्व हॉकी कप्तान सरदार ने कहा कि खेल रत्न ने मेरी लाइफ को बढ़ा दिया है। इस सम्मान से मुझे 2020 के ओलंपिक में खेलने के लिए जैसे नई ताकत मिल गयी है। 

सरदार वर्ष 2000 में धनराज पिल्लै के बाद खेल सम्मान ग्रहण करने वाले दूसरे हॉकी खिलाड़ी बने हैं। दुनिया के बेहतरीन मिडफील्डरों में शुमार सरदार ने साथ ही कहा कि पिछले साल रियो ओलंपिक के क्वार्टरफाइनल में हारने और कुछ अन्य मौकों पर मिली निराशा से कई बार मन में ख्याल आ गया था कि खेल को छोड़ दिया जाए। लेकिन अब लगता है कि खेल को नये जोश के साथ जारी रख सकूंगा।

सीनियर भारतीय हॉकी टीम के साथ 11वें साल खेल रहे सरदार ने कहा कि मैं 11वें साल सीनियर टीम के साथ खेल रहा हूं। हमारी हॉकी टीम लगातार अच्छा कर रही है और हम इससे आगे भी जा सकते हैं। यहां से मुझे अभी राष्ट्रीय शिविर में हिस्सा लेने बेंगलुरू जाना है। सरदार ने खेल रत्न को अपने टीम साथियों, कोचों, हॉकी इंडिया, परिवार और मित्रों के साथ नामधारी को समर्पित किया। उन्होंने कहा कि नामधारी के साथ मेरी हॉकी की शुरूआत हुई थी जिसके बाद मैं यहां तक पहुंच पाया हूं। मैं चयनकर्ताओं का भी धन्यवाद करना चाहता हूं जिन्होंने मुझे इस सम्मान के लिये चुना।




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !