अमरनाथ यात्रा : इंटैलीजैंस ने 15 दिन पहले किया था आतंकी हमले को लेकर अलर्ट जारी

Thursday, July 13, 2017 11:03 AM
अमरनाथ यात्रा : इंटैलीजैंस ने 15 दिन पहले किया था आतंकी हमले को लेकर अलर्ट जारी

श्रीनगर : अमरनाथ यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं पर आतंकियों द्वारा किए गए हमले को लेकर अलर्ट 15 दिन पूर्व ही इंटैलीजैंस विंग द्वारा जारी किया गया था। 25 जून को चंडीगढ़ में इंटैलीजैंस ब्यूरो, सी.आर.पी.एफ. तथा जम्मू-कश्मीर पुलिस की एक बैठक हुई थी, जिसमें श्री अमरनाथ यात्रा को लेकर सुरक्षा प्रबंधों पर विचार किया गया था। आला सुरक्षा अधिकारियों से पता चला है कि इंटैलीजैंस ब्यूरो ने अपने अलर्ट में कहा था कि आतंकियों द्वारा पंजाब के पठानकोट क्षेत्र के अलावा जम्मू-कश्मीर में पड़ते कठुआ, सांबा व जम्मू क्षेत्रों में भी हमले किए जा सकते हैं, इसलिए सुरक्षा बलों को यात्रा के दौरान विशेष रूप से अलर्ट रहना होगा। अलर्ट में यह भी कहा गया था कि आतंकियों द्वारा सुरक्षा बलों पर भी हमले किए जा सकते हैं।

 

इंटैलीजैंस से मिली सूचनाओं का हवाला देते हुए सुरक्षा अधिकारियों ने कहा कि आतंकियों के निशाने पर श्रद्धालुओं के साथ-साथ केन्द्रीय अद्र्धसैनिक बल के अधिकारी भी थे, जिन्होंने कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ अभियान चलाया हुआ है। अलर्ट में यह भी कहा गया था कि आतंकियों द्वारा अमरनाथ यात्रियों के काफिले में आग भी लगाई जा सकती है, जिससे देश में साम्प्रदायिक तनाव पैदा हो जाए। सुरक्षा अधिकारियों ने कहा है कि इंटैलीजैंस ब्यूरो को अब भी आशंका है कि आतंकियों द्वारा फिर से अमरनाथ यात्रा के दौरान हल्ला बोला जा सकता है तथा ऐसा कर वे सनसनी फैलाने की कोशिश कर सकते हैं। इसलिए यात्रा मार्ग पर तैनात सुरक्षा बलों को और भी चौकस होकर कार्य करना होगा। सूत्रों ने कहा कि इंटैलीजैंस ब्यूरो (आई.बी) के पास लश्कर-ए-तोयबा के नए प्रमुख अब्बू दुजाना का एक पत्र है, जिसमें उन्होंने अमरनाथ यात्रा को निशाना बनाने की बात कही हुई है। लश्कर-ए-तोयबा के आतंकियों को विशेष रूप से प्रशिक्षित किया गया है।

 

दीनानगर में भी लश्कर-ए-तोयबा ने बस को निशाना बनाया था
इंटैलीजैंस ब्यूरो का मानना है कि लश्कर-ए-तोयबा द्वारा जिस तरह से बस में जा रहे अमरनाथ यात्रियों को निशाना बनाया गया है, उसी तरह की रणनीति लश्कर-ए-तोयबा ने 2015 में पंजाब के दीनानगर क्षेत्र में एक बस पर गोलियां चलाकर अपनाई थी। दीनानगर में बस ड्राइवर की सूझबूझ के साथ यात्री बच गए थे, क्योंकि ड्राइवर बस को तेजी से भगाकर ले गया था। सूत्रों ने बताया कि इंटैलीजैंस ब्यूरो ने मई महीने में लगभग 4 अलर्ट सुरक्षा अधिकारियों को जारी किए थे, जिसमें इंटैलीजैंस ने कहा था कि लश्कर-ए-तोयबा द्वारा पंजाब तथा जम्मू-कश्मीर में पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर हमला बोला जा सकता है, इसलिए सतर्क रहने की जरूरत है।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!