राहुल गांधी की चिंतन प्रक्रिया में नहीं है एकरूपता: तृणमूल कांग्रेस

punjabkesari.in Sunday, May 22, 2022 - 12:22 AM (IST)

कोलकाता, 21 मई (भाषा) तृणमूल कांग्रेस ने शनिवार को क्षेत्रीय दलों पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी के नवीनतम नरम बयान को यह कहते हुए ज्यादा तवज्जो नहीं दी कि उनमें ‘एकरूपता’ नहीं है और उन्हें ‘अपनी चिंतन प्रक्रिया में कुछ स्पष्टता’ लानी चाहिए।
तृणमूल प्रवक्ता सुखेंदु शेखर ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘राहुल गांधी (की बातों) में एकरूपता नहीं है और उन्हें अपनी चिंतन प्रक्रिया में कुछ स्पष्टता लानी चाहिए। कुछ दिनों पहले उन्होंने कहा था कि क्षेत्रीय दलों में विचारधारा नहीं है और केवल कांग्रेस ही भाजपा का मुकाबला कर सकती है।’’
उन्होंने कहा, ‘‘आज वह जो कह रहे हैं, वह बिल्कुल अलग है। इसलिए, कांगेस और राहुल गांधी को स्पष्ट करना चाहिए कि कौन-सा बयान सही है और किस पर भरोसा किया जाना चाहिए।’’
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने उदयपुर में पार्टी के चिंतन शिविर के दौरान की गयी टिप्पणी से पीछे हटते हुए कहा है कि उनकी पार्टी क्षेत्रीय दलों का सम्मान करती है और वह ''''सर्वेसर्वा'''' नहीं बनना चाहती। साथ ही, उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के खिलाफ लड़ाई एक ‘‘सामूहिक प्रयास’’ है।

उल्लेखनीय है कि ‘चिंतन शिविर’ में राहुल गांधी ने कहा था कि राष्ट्रीय स्तर पर केवल कांग्रेस ही भाजपा से लड़ सकती है और क्षेत्रीय दल यह लड़ाई नहीं लड़ सकते क्योंकि उनकी कोई विचारधारा नहीं है।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News