शुभेंदु अधिकारी के कार्यालय पर छापे के मामले में धनखड़ ने मुख्य सचिव से ‘व्यापक रिपोर्ट’ मांगी

punjabkesari.in Monday, May 16, 2022 - 09:30 PM (IST)

कोलकाता, 16 मई (भाषा) पश्चिम बंगाल विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी के नंदीग्राम स्थित कार्यालय पर पुलिस के कथित छापे को लेकर मुख्य सचिव एच के द्विवेदी की दी गयी जानकारी से असंतुष्ट राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने सोमवार को द्विवेदी से मंगलवार सुबह तक इस मामले में व्यापक रिपोर्ट भेजने को कहा।

राज्यपाल ने यह भी कहा कि अधिकारी से प्राप्त वीडियो और जानकारी ‘‘पुलिस और प्रशासन की लगातार देखी जा रही राजनीतिक भूमिका’’ को दर्शाते हैं।

राज्य सरकार को भेजे आधिकारिक संदेश में धनखड़ ने कहा, ‘‘मुख्य सचिव ने डीजीपी की ओर से भेजी गयी रिपोर्ट को ही आगे बढ़ा दिया जिसमें संबंधित मुद्दों पर ध्यान ही नहीं दिया गया है।’’
उन्होंने इस संदेश को अपने आधिकारिक ट्विटर खाते पर भी डाला।

अधिकारी ने रविवार को दावा किया था कि राज्य पुलिस के अफसर ‘‘बिना किसी पूर्व सूचना या तलाशी वारंट के’ नंदीग्राम में उनके आधिकारिक विधायी कार्यालय-सह-आवास में घुस आये थे।

उनका आरोप था कि यह ममता बनर्जी सरकार द्वारा पुलिस बल का दुरुपयोग है। हालांकि पुलिस ने इस बारे में कोई बयान जारी नहीं किया है।

धनखड़ ने रविवार को राज्य के मुख्य सचिव से अधिकारी के कार्यालय पर पुलिस और आरएएफ के जवानों के कथित छापे पर तत्काल रिपोर्ट मांगी थी। हालांकि वह द्विवेदी द्वारा दी गयी जानकारी से संतुष्ट नहीं दिखे।

उन्होंने ट्विटर पर मुख्य सचिव से मंगलवार सुबह 11 बजे तक घटना के संबंध में ‘व्यापक रिपोर्ट’ जमा करने को कहा।

इस बीच भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष का कार्यालय तक सुरक्षित नहीं है। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘ये घटनाएं पश्चिम बंगाल में कानून व्यवस्था की स्थिति का प्रमाण हैं।’’
जब इस बारे में तृणमूल कांग्रेस के सांसद शांतनु सेन से बात की गयी तो उन्होंने दावा किया कि पुलिस ने कानून के अनुसार कार्रवाई की । उन्होंने कहा, ‘‘कोई भी कानून से ऊपर नहीं है।’’

यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News