बंगाल में भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले बेरोकटोक जारी, पार्टी जारी रखेगी विरोध : दिलीप घोष

2021-07-26T00:16:03.257

कोलकाता, 25 जुलाई (भाषा) पश्चिम बंगाल में चुनाव उपरांत हुई हिंसा के खिलाफ एक सप्ताह तक विरोध प्रदर्शन करने का आह्वान करते हुए भाजपा ने रविवार को कहा कि ‘तृणमूल कांग्रेस के गुंडे’ कलकत्ता उच्च न्यायालय और एनएचआरसी की चेतावनियों के बावजूद उसके कार्यकर्ताओं पर हमले जारी रखे हुए हैं।
पश्चिम बंगाल प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने दावा किया कि दो मई को विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के बाद राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी की गुप्त साजिश के तहत किए हमले में भगवा पार्टी के कम से कम 30 सदस्य मारे गए हैं।
भाजपा की युवा इकाई के कार्यक्रम में शामिल हुए घोष ने कहा कि उनकी पार्टी ‘ पश्चिमबंगा बंचाओ सप्तोह’ (पश्चिम बंगाल बचाओ सप्ताह) कार्यक्रम के तहत राज्य के विभिन्न हिस्सों में नौ से 16 अगस्त के बीच रैली निकालेगी।
उन्होंने कहा, ‘‘राज्य में कानून व्यवस्था ध्वस्त हो गई है। सत्तारूढ़ पार्टी का उच्च न्यायालय की फटकार और राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) की टिप्पणियों के बावजूद भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमला जारी है।’’ उन्होंने कहा कि दो मई से अबतक हजारों भाजपा कार्यकर्ता और उनके परिवार बेघर हुए हैं।
गौरतलब है कि कलकत्ता उच्च न्यायालय के आदेश पर एनएचआरसी अध्यक्ष ने हिंसा की घटनाओं की जांच के लिए समिति गठित की थी जिसने अपनी रिपोर्ट में कहा कि पश्चिम बंगाल में स्थिति ‘‘कानून के राज’’ के बजाय ‘राजा का राज’ जैसी है।
भाजपा के वरिष्ठ नेता ने जानना चाहा कि ममता बनर्जी की सरकार ने क्यों 16 अगस्त की तारीख को ‘खेला होबे दिवस’ मनाने के लिए चुना है?उन्होंने कहा कि यह वह तारीख है जब वर्ष 1946 में मुस्लिम लीग ने सीधी कार्रवाई दिवस का आह्वान किया था।
घोष ने कहा, ‘‘भाजपा लोकतांत्रिक तरीके से तृणमूल कांग्रेस की हत्यारी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन जारी रखेगी, जो अब अपने हमले को ‘खेला होबे दिवस’ की आड़ में तेज करने की साजिश रच रही है। 16 अगस्त कलकत्ता संहार की याद दिलाता है। मुस्लिम लीग ने इसी दिन 1946 में सीधी कार्रवाई दिवस की घोषणा की थी और हुगली नदी का पानी खून से लाल हो गया था।’’
उन्होंने कहा कि भाजपा ‘पश्चिमबंग बचाओ दिवस 16 अगस्त को मनाएगी- एक सप्ताह के प्रदर्शन का आखिरी दिन- और पार्टी के विचारक श्यामा प्रसाद मुखर्जी को श्रद्धांजलि अर्पित करेगी। मुखर्जी जनसंघ के संस्थापक भी थे और मुस्लिम लीग के पंजे से बंगाल को बचाने में अहम भूमिका निभाई थी।
घोषणा का समर्थन करते हुए भारतीय जनता युवा मोर्चा के राज्य अध्यक्ष सौमित्र खान ने कहा कि युवा इकाई ममता बनर्जी के कुशासन के खिलाफ प्रदर्शन के लिए अगस्त में ‘कोलकाता चलो’ कार्यक्रम का आयोजन करेगी।
भाजपा की उसके आरोपों के लिए निंदा करते हुए तृणमूल कांग्रेस के प्रवक्ता कुणाल घोष ने कहा कि भाजपा बिना कारण 16 अगस्त को सांप्रदायिक रंग देना चाहती है। तृणमूल कांग्रेस पहले ही घोषणा कर चुकी है कि यह दिन 16 युवा फुटबॉल खिलाड़ियों को समर्पित है जिनकी मौत वर्ष 1980 में इसी दिन फुटबॉल मैच के दौरान हुई हिंसा में हुई थी।
उन्होंने कहा, ‘‘ वे (भाजपा नेता) गिद्ध की तरह हैं जिनकी नजरे हमेशा लाशों पर होती है। बंगाल के लोगों को उनकी मंशा की जानकारी है।’’


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News