तृणमूल नेता अभिषेक बनर्जी ने “दिल्ली के दोनों तानाशाही नेताओं” को हराने का आह्वान किया

2021-07-22T10:59:13.127

कोलकाता, 21 जुलाई (भाषा) तृणमूल कांग्रेस के नेता अभिषेक बनर्जी ने बुधवार को कहा कि उनका दल भारतीय जनता पार्टी के दमनकारी रवैये के सामने नहीं झुकेगा और यह सुनिश्चित करेगा कि 2024 के लोकसभा चुनाव में देश को “उन दोनों तानाशाही नेताओं से मुक्ति मिले जो दिल्ली में बैठे हैं।”
तृणमूल महासचिव अभिषेक, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे हैं। उन्होंने त्रिपुरा में तृणमूल के शहीद दिवस के अवसर पर एकत्र हुए पार्टी के नेताओं को कोविड नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में गिरफ्तार करने की भी निंदा की।
डायमंड हार्बर से सांसद अभिषेक बनर्जी ने कहा, “हम भाजपा के दमनकारी रवैये से झुकने वाले नहीं हैं। हम यह सुनिश्चित करेंगे कि भारत, दिल्ली में बैठे दो तानाशाहों के चंगुल से मुक्त हो जाए।” बनर्जी किन ‘दोनों’ की बात कर रहे थे, यह उन्होंने स्पष्ट नहीं किया।
तृणमूल अध्यक्ष के भाषण के बाद कार्यक्रम के समापन के दौरान उन्होंने कहा, “मैं विभिन्न दलों के उन नेताओं को धन्यवाद देता हूं जो हमारे कार्यक्रम में शामिल हुए। हमें साथ मिलकर तानाशाही सरकार के खिलाफ लड़ना होगा। तृणमूल ममता बनर्जी के नेतृत्व में लड़ेगी। पश्चिम बंगाल देश को दिशा दिखाने का काम करेगा।”
अभिषेक ने ट्वीट किया, “भाजपा शासित प्रदेशों में तृणमूल के समर्थकों पर हमला किये जाने की हम कड़ी निंदा करते हैं। हम ऐसे दमनकारी रवैये से झुकने वाले नहीं हैं। शहीद दिवस पर मैं यह दोहराता हूं कि तृणमूल दमनकारी ताकतों के खिलाफ लड़ाई में एक इंच पीछे नहीं हटेगी। चाहे जो भी हो जाए।”

यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News