द्रमुक को पेट्रोलियम उत्पादों की दरों में कटौती करनी चाहिए: पनीरसेल्वम

punjabkesari.in Sunday, May 22, 2022 - 09:57 PM (IST)

चेन्नई, 22 मई (भाषा) भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सहयोगी एवं तमिलनाडु के मुख्य विपक्षी दल अखिल भारतीय अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कषगम (अन्नाद्रमुक) ने पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क में कटौती करने संबंधी केंद्र के कदम का रविवार को स्वागत किया।

अन्नाद्रमुक ने राज्य में सत्तारूढ़ द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) से अपील की कि वह भी केंद्र सरकार का अनुसरण करे और पेट्रोलियम उत्पादों की कीमत में कटौती के अपने चुनावी वादे को पूरा करे ताकि लोगों को लाभ हो सके।

अन्नाद्रमुक के समन्वयक ओ पनीरसेल्वम ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क में आठ रुपये प्रति लीटर और डीजल पर छह रुपये प्रति लीटर की कटौती से बढ़ती महंगाई को काबू करने में मदद मिलेगी तथा आवश्यक वस्तुओं की कीमतों और ऑटोरिक्शा एवं टैक्सी के किराए में कमी आएगी।

उन्होंने ‘उज्ज्वला’ योजना के तहत रसोई गैस कनेक्शन पाने वाले गरीबों को एक वर्ष में 12 सिलेंडर के लिए 200 रुपये की सब्सिडी के प्रावधान सहित अन्य कदमों के लिए भी केंद्र सरकार की सराहना की और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को आम आदमी का ‘मसीहा’ बताया।

पूर्व मुख्यमंत्री ने एक बयान जारी करके एम के स्टालिन के नेतृत्व वाली द्रमुक सरकार से अपील की कि वह ईंधन की दरों में कटौती को लेकर 2021 विधानसभा चुनाव से पहले किए गए अपने वादे को अब लागू करे, ताकि नागरिकों को इसका लाभ मिल सके।

उन्होंने कहा कि राज्य में टमाटर सहित कुछ सब्जियों की कीमतें 100 रुपये प्रति किलोग्राम से ऊपर हैं। उन्होंने कहा कि अपने चुनावी वादों को पूरा करना द्रमुक का कर्तव्य है।

पनीरसेल्वम ने कहा कि मुख्यमंत्री स्टालिन को पेट्रोल की कीमत में दो रुपये और डीजल की कीमत में चार रुपये प्रति लीटर की कटौती करनी चाहिए।

द्रमुक सरकार ने अप्रैल 2021 के चुनावों से पहले वादा किया था कि वह सत्ता में आने पर पेट्रोल और डीजल की कीमतों में क्रमश: पांच रुपये और चार रुपये प्रति लीटर की कमी करेगी। द्रमुक ने पिछले साल पेट्रोल पर तीन रुपये वैट कम किया था।

बाद में पनीरसेल्वम ने मोदी को पत्र लिखकर शनिवार को घोषित विभिन्न उपायों के लिए केंद्र की सराहना की।

पनीरसेल्वम ने कहा कि कोविड-19 महामारी और अन्य चुनौतियों के कारण पिछले दो वर्षों में भारतीय अर्थव्यवस्था काफी मुश्किल दौर से गुजरी है लेकिन प्रधानमंत्री के गतिशील नेतृत्व में केंद्र की सही नीतियों के कारण यह विकास की राह पर लौट आई है।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News