अन्य राज्यों की तुलना में तमिलनाडु में कोविड-19 से मौत के कम मामले: स्वास्थ्य मंत्री

punjabkesari.in Saturday, Jan 22, 2022 - 10:10 PM (IST)

चेन्नई, 22 जनवरी (भाषा) तमिलनाडु के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री एम. सुब्रमण्यम ने शनिवार को कहा कि अन्य राज्यों की तुलना में तमिलनाडु में कोविड​​-19 के कारण होने वाली मौतों की संख्या ‘कम’ है, क्योंकि 65 प्रतिशत आबादी को टीके की दोनों खुराक दी जा चुकी है।

मंत्री ने कहा कि कोविड​​-19 के कारण इसलिए मौतें हुईं, क्योंकि लोगों ने टीके की एक भी खुराक नहीं ली थी और 60 वर्ष से अधिक आयु के लोग पहले से कई रोगों से ग्रस्त थे। सुब्रमण्यम ने संक्रमण से बचाव के लिए टीकाकरण की आवश्यकता को रेखांकित करते हुए कहा कि 89 प्रतिशत लोग टीके की पहली खुराक ले चुके हैं, जबकि 65 प्रतिशत लोगों को दूसरी खुराक मिल चुकी है।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘यह जानकर संतोष होता है कि तमिलनाडु में मृत्यु दर (कोविड-19 के कारण) कम रही है, हालांकि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि जो लोग इस वायरस के शिकार हुए हैं उन्होंने टीके की एक भी खुराक नहीं ली थी। लोगों को खुद को वायरस से बचाव के लिए टीका लगवाना चाहिए।’’
उन्होंने कहा कि तमिलनाडु में कोविड-19 के दैनिक मामले 30,000 के करीब हैं और महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक के मुकाबले तुलनात्मक रूप से कम हैं। महाराष्ट्र में जहां रोज करीब 50,000 मामले आ रहे हैं वहीं, केरल में 30,000-40,000 मामले और कर्नाटक में करीब 30,000 मामले आ रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि 15-18 वर्ष के आयु वर्ग में 76.23 प्रतिशत योग्य किशोरों को टीके की खुराक दी जा चुकी, जबकि 1.84 लाख लोगों ने ‘एहतियाती खुराक’ ली है।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News