पांडव नगर में पति की हत्या कर शव के 10 टुकड़े करने के आरोप में महिला, उसका बेटा गिरफ्तार

punjabkesari.in Monday, Nov 28, 2022 - 04:15 PM (IST)

नयी दिल्ली, 28 नवंबर (भाषा) श्रद्धा वालकर हत्याकांड की तरह ही पूर्वी दिल्ली के पांडव नगर में एक महिला द्वारा बेटे के साथ मिलकर अपने पति की कथित तौर पर हत्या कर शव के 10 टुकड़े करने का मामला सामने आया है।
पुलिस ने सोमवार को बताया कि इस मामले में आरोपी महिला तथा उसके बेटे को गिरफ्तार कर लिया गया है।

पुलिस ने बताया कि अंजन दास (45) की उसकी पत्नी पूनम और सौतेले बेटे दीपक (25) ने 30 मई को हत्या की और शव के 10 टुकड़े किए गए तथा उन्हें एक फ्रिज में रखा। पांच जून को उसके शव के टुकड़े पूर्वी दिल्ली के कल्याणपुरी में रामलीला मैदान में एक बैग के अंदर मिले थे।

अगले कुछ दिनों में उसके पैर, जांघ, खोपड़ी और एक हाथ मिला जिसके बाद पांडव नगर पुलिस थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) और 201 (सबूत छिपाने तथा झूठी सूचना देने) के तहत एक मामला दर्ज किया गया है।

पुलिस ने बताया कि मृतक की बिहार में एक पत्नी तथा आठ बेटे हैं लेकिन उसने यह बात पूनम से छिपायी थी। दास के परिजन के डीएनए नमूने एकत्रित करने के लिए एक दल को भेजा जाएगा ताकि यह पता लगाया जाए कि शव के जो टुकड़े मिले हैं वे दास के है या नहीं।

पुलिस के मुताबिक, मां-बेटे ने पूछताछ के दौरान बताया कि उन्हें शक था कि दास की उसकी सौतेली बेटी तथा सौतेले बेटे की पत्नी पर बुरी नजर थी। पूनम और उसके बेटे दीपक ने एक-एक करके पूर्वी दिल्ली में अलग-अलग स्थानों पर शव के टुकड़ों को तीन-चार दिनों में ठिकाने लगाया और खोपड़ी दफन कर दी।
आरोपियों ने पुलिस को बताया कि उन्होंने दास को नशे की दवा घोलकर पिलायी थी और बेहोश होने के बाद उन्होंने उसकी हत्या के लिए एक चाकू और खंजर का इस्तेमाल किया। इसके बाद उन्होंने उसका गला काट दिया और शव के टुकड़े-टुकड़े करने से पहले खून पूरी तरह बह जाने का इंतजार किया।

जून में शरीर के टुकड़े मिलने के बाद पुलिस ने इलाके के सीसीटीवी फुटेज खंगाले और घर-घर जाकर पूछताछ की। बाद में शव की शिनाख्त दास के तौर पर हुई जिसके बाद पुलिस ने पूनम और दीपक को पकड़ा।

पुलिस को दोनों पर इसलिए शक हुआ क्योंकि उन्होंने दास की गुमशुदगी की शिकायत दर्ज नहीं करायी और पूछताछ करने पर उनके बयानों में विसंगतियां मिली। पुलिस के मुताबिक, इसके बाद उन्होंने हत्या का जुर्म कबूल कर लिया।

पुलिस ने बताया कि पूनम का 14 साल की उम्र में सुखदेव तिवारी से विवाह हुआ था जिसने बाद में उसे छोड़ दिया और दिल्ली आ गया। वह भी अपने पति की तलाश में दिल्ली आ गयी और यहां उसकी मुलाकात कल्लू से हुई, जिसके साथ वह लिव-इन में रहने लगी।

पुलिस के अनुसार, इसके बाद पूनम दास से मिली और उसे पसंद करने लगी। 2016 में कल्लू की बीमारी के कारण मौत हो गयी और पूनम ने 2017 में दास से शादी कर ली। जब उसने दास से शादी की तो उसे यह पता नहीं था कि उसका बिहार में परिवार है।

उन्होंने बताया कि लिफ्ट ऑपरेटर के तौर पर काम करने वाले दास ने पहले पूनम के गहने बेच दिए थे और उससे मिला पैसा बिहार में अपने परिवार के पास भेज दिया था।

पुलिस के मुताबिक, मां और बेटे ने मार्च-अप्रैल के आसपास हत्या की साजिश रची। शव के टुकड़े रखने के लिए इस्तेमाल किए गए फ्रिज को जब्त कर लिया गया है।

यह मामला राष्ट्रीय राजधानी में 26 वर्षीय वालकर की हत्या से मिलता-जुलता है।

उल्लेखनीय है कि पुलिस ने दिल्ली के महरौली में अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वालकर की गला घोंटकर हत्या करने तथा उसके शव के 35 टुकड़े करके उन्हें करीब तीन हफ्तों तक 300 लीटर के फ्रिज में रखने के आरोप में 28 वर्षीय आफताब पूनावाला को 12 नवंबर को गिरफ्तार किया था।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News