डीयू ने मुक्त शिक्षा विद्यालय में शुरू किए छह रोजगारपरक पाठ्यक्रम

punjabkesari.in Monday, Oct 03, 2022 - 08:34 PM (IST)

नयी दिल्ली, तीन अक्टूबर (भाषा) दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) ने रोजगारपरक कार्यक्रम प्रदान करने के लक्ष्य के साथ मुक्त शिक्षा विद्यालय (एसओएल) में व्यावसायिक प्रशासन स्नातकोत्तर (एमबीए) समेत छह नए पाठ्यक्रमों की सोमवार को शुरुआत की।

विश्वविद्यालय के कुलपति योगेश सिंह ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि 28 साल बाद एसओएल पाठ्यचर्या में नए पाठ्यक्रम जोड़े गए हैं। उन्होंने कहा कि ये नए पाठ्यक्रम रोजगारपरक तथा व्यावसायिक पाठ्यचर्या आधारित हैं।

सिंह ने कहा, ‘‘ एसओएल में हम छह नए पाठ्यक्रम शुरू कर रहे हैं। पहला पाठ्यक्रम व्यावसायिक प्रशासन स्नातकोत्तर (एमबीए) है। अन्य पाठ्यक्रम व्यावसायिक प्रशासन स्नातक (वित्तीय निवेश विश्लेषण), बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज, बैचलर ऑफ आर्ट्स इकोनोमिक्स (आनर्स), बैचलर ऑफ लाइब्रेरी एंड इन्फोर्मेशन साइंसेज, मास्टर ऑफ लाइब्रेरी एंड इन्फोर्मेशन साइंसेज हैं।’’
उनके अनुसार एमबीए को छोड़कर सभी पांच नए पाठ्यक्रमों के लिए सीट असीमित हैं। उनका कहना था कि एमबीए के लिए 20,000 सीट तय की गयी हैं और इस पाठ्यक्रम में मेधा के आधार के प्रवेश मिलेगा।

उन्होंने कहा, ‘‘डीयू के इतिहास में पहली बार डीडीसीई के माध्यम से स्नातक और स्नातोकोत्तर स्तर पर कुछ प्रबंधन एवं अन्य व्यावसायक पाठ्यक्रम शुरू किए गए हैं। यह सभी के लिए समावेशी एवं गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान कर एक मानक तय करेगा।’’
कुलपति ने कहा कि इन स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों से विद्यार्थियों की रोजगारपरकता कई गुना बढ़ जाएगी और उन्हें रणनीतिक निर्णय लेने में मदद मिलेगी।
मुक्त शिक्षा परिसर की निदेशक पायल मागो ने कहा कि दूरस्थ शिक्षा ब्यूरो और अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद से मंजूरी मिलने के बाद ये पाठ्यक्रम शुरू किए गए हैं।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News