आदिवासी युवाओं को डिजिटल रूप से कुशल बनाएगा गोल 2.0 कार्यक्रम

punjabkesari.in Tuesday, Jun 28, 2022 - 10:01 PM (IST)

नयी दिल्ली, 28 जून (भाषा) सोशल मीडिया क्षेत्र की दिग्गज कंपनी मेटा और आदिवासी मामलों के मंत्रालय ने परस्पर सहयोग को आगे बढ़ाते हुए ‘गोइंग ऑनलाइन एज लीडर्स (गोल) कार्यक्रम का दूसरा चरण शुरू करने की घोषणा की है।

गोल 2.0 के तहत देश के आदिवासी समुदाय के 10 लाख युवाओं और महिलाओं को डिजिटल रूप से कुशल और सशक्त बनाया जाएगा। यह कार्यक्रम सामाजिक रूप से वंचित युवाओं को प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल के अवसर उपलब्ध कराएगा। देश की कुल जनसंख्या में आदिवासी आबादी का हिस्सा करीब 8.6 प्रतिशत है।

इस कार्यक्रम के तहत गोल के चिह्नित भागीदारों की ‘मेटा बिजनेस कोच’ यानी व्हॉट्सएप आधारित लर्निंग बॉट तक पहुंच होगी। इससे भागीदारों को फेसबुक, इंस्टाग्राम और व्हॉट्सएप के जरिये अपने कारोबार को बढ़ाने का कौशल प्रदान किया जाएगा।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News