भारत में पेट्रोल ब्रिटेन, जर्मनी से सस्ता, पर अमेरिका, चीन, पाकिस्तान, श्रीलंका से महंगा

punjabkesari.in Tuesday, May 17, 2022 - 04:28 PM (IST)

नयी दिल्ली, 17 मई (भाषा) भारत में पेट्रोल हांगकांग, जर्मनी और ब्रिटेन जैसे देशों की तुलना में सस्ता है लेकिन चीन, ब्राजील, जापान, अमेरिका, रूस, पाकिस्तान और श्रीलंका की तुलना में महंगा है। बैंक ऑफ बड़ौदा (बीओबी) की एक शोध रिपोर्ट में यह दावा किया गया है।

भारत में ईंधन की बढ़ती कीमतों के बीच इस पर बहस चल रही है कि राज्य या केंद्र में किसे अपने करों में कटौती करनी चाहिए। ईंधन की कीमतों में वृद्धि मुख्य रूप से कच्चे तेल की अंतरराष्ट्रीय कीमतें बढ़ने के कारण है। इसके अलावा डॉलर के मजबूत होने से भी कच्चे तेल का आयात महंगा हो गया है।

बीओबी की आर्थिक अनुसंधान रिपोर्ट में विभिन्न देशों में गत नौ मई को पेट्रोल की कीमतों का तुलनात्मक अध्ययन किया गया है। इसके लिए उस देश की प्रति व्यक्ति आय की तुलना में पेट्रोल की कीमतों को आधार बनाया गया।
दुनिया के 106 देशों से मिले आंकड़ों के अध्ययन से पता चलता है कि भारत में पेट्रोल की कीमत 1.35 डॉलर प्रति लीटर है और यह इस सूची में 42वें स्थान पर है। इस तरह 50 से भी ज्यादा देशों में पेट्रोल की कीमतें भारत से भी ज्यादा हैं।
रिपोर्ट कहती है, ‘‘इस आंकड़े को देखकर हमें कुछ राहत मिलती है कि सिर्फ भारत में ही पेट्रोल इतना महंगा नहीं है। इन देशों में पेट्रोल की औसत कीमत 1.22 डॉलर प्रति लीटर है।’’
रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में ईंधन की कीमतें ऑस्ट्रेलिया, तुर्की और दक्षिण कोरिया के बराबर हैं। यह कीमत हांगकांग, फिनलैंड, जर्मनी, इटली, नीदरलैंड, यूनान, फ्रांस, पुर्तगाल और नॉर्वे से कम है जहां यह प्रति लीटर दो डॉलर से ऊपर है।

प्रति व्यक्ति के संदर्भ में भारत में पेट्रोल की कीमत वियतनाम, केन्या, यूक्रेन, बांग्लादेश, नेपाल, पाकिस्तान, श्रीलंका और वेनेजुएला से अधिक हैं। प्रमुख तेल उत्पादक देशों में पेट्रोल की कीमतें तुलनात्मक रूप से काफी कम हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, ‘‘भारत में पेट्रोल की कीमत अब हद से ज्यादा अधिक नहीं लगती है। हालांकि, जब इसे प्रति व्यक्ति आय के साथ जोड़कर देखें तो यही नजर आता है कि अधिक कीमत वाले ज्यादातर देशों में प्रति व्यक्ति आय भारत की तुलना में काफी अधिक है।’’
ऐसी स्थिति में कम प्रति व्यक्ति आय वाले देशों के लिए पेट्रोल के दाम बढ़ने का आर्थिक कष्ट बहुत अधिक है। इसकी वजह यह है कि मुद्रास्फीति पर इसका प्रत्यक्ष एवं परोक्ष प्रभाव कहीं ज्यादा है जिससे निम्न-आय वाले समूहों पर सबसे ज्यादा मार पड़ती है।
रिपोर्ट में फिलिपीन का उदाहरण देते हुए कहा गया है कि वहां पर पेट्रोल की कीमत भारत के लगभग समान है लेकिन उसकी प्रति व्यक्ति आय भारत की तुलना में 50 प्रतिशत ज्यादा है। वहीं केन्या, बांग्लादेश, नेपाल, पाकिस्तान एवं वेनेजुएला जैसे कम प्रति व्यक्ति आय वाले देशों में पेट्रोल की कीमतें बहुत कम हैं।

बीओबी की शोध रिपोर्ट कहती है कि ऐसी स्थिति में लोगों के हितों की रक्षा के लिए सरकार को ईंधन पर करों में कटौती पर जरूर सोचना चाहिए।

भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा तेल उपभोक्ता और आयातक देश है। यह अपनी तेल जरूरतों का 85 प्रतिशत आयात करता है और इसलिए आयात समता दरों पर खुदरा ईंधन की कीमतें रखता है।

दिल्ली में पेट्रोल की मौजूदा कीमत 105.41 रुपये (1.35 डॉलर) प्रति लीटर है। इसकी तुलना में पड़ोसी देशों में पेट्रोल कहीं सस्ता है। बांग्लादेश में पेट्रोल की कीमत 1.05 डॉलर प्रति लीटर, पाकिस्तान में 77 सेंट प्रति लीटर और श्रीलंका में 67 सेंट प्रति लीटर है।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News