भारतीय ध्वज का कथित रूप से अपमान करने के लिए सोशल मीडिया पर अमेजन की आलोचना

punjabkesari.in Monday, Jan 24, 2022 - 11:53 PM (IST)

नयी दिल्ली, 24 जनवरी (भाषा) अमेजन को भारतीय ध्वज का कथित तौर पर अपमान करने के लिए सोमवार को भारतीय सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं के एक वर्ग की नाराजगी का सामना करना पड़ा।

अमेजन को परिधान और खाद्य पदार्थों सहित कुछ ऐसे उत्पादों की बिक्री को लेकर भारतीय सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं के एक वर्ग की आलोचना का सामना करना पड़ा जिसमें भारतीय ध्वज की तस्वीरें लगी हैं।

इनमें से कुछ ने कहा कि इस तरह से तिरंगे का इस्तेमाल करना देश के ध्वज संहिता का अपमान और उल्लंघन है।

हालांकि अमेजन ने देर शाम जारी एक बयान में कहा कि वह उन विक्रेताओं के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई करने के लिए प्रतिबद्ध है, जिन्होंने कोई गैर-अनुपालन वाले उत्पादों को सूचीबद्ध किया हो।

सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं ने अमेजन की वेबसाइट पर परिधान, कप, चाबी का गुच्छा और चॉकलेट जैसी वस्तुओं की तस्वीरें साझा कीं, जिनमें तिरंगे की तस्वीरें या छाप हैं और इन वस्तुओं पर प्रतिबंध लगाने की मांग की।

संपर्क करने पर, अमेजन ने कहा कि अमेजनडॉटइन एक ऑनलाइन मार्केटप्लेस है जहां तीसरे पक्ष के विक्रेता सीधे ग्राहकों को बिक्री के लिए उत्पादों की पेशकश करते हैं और इस तरह वे इन उत्पादों की बिक्री से जुड़े अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए जिम्मेदार हैं।

कंपनी ने कहा, ‘‘हमारे लिए यह जरूरी है कि हम बाजार में पेश किए जाने वाले सभी उत्पादों को लागू कानूनों का पालन करने और गैर-अनुपालन पर लगातार उचित कार्रवाई करें। अमेजन उन विक्रेताओं के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई करने के लिए प्रतिबद्ध है, जिन्होंने कोई गैर-अनुपालन करने वाला उत्पाद सूचीबद्ध किया हो।’’
कुछ सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं ने कहा कि उत्पादों पर तिरंगे का उपयोग करना भारतीय ध्वज संहिता, 2002 के विरुद्ध है।

सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं के एक वर्ग ने कहा कि इस तरह का उपयोग राष्ट्रीय ध्वज का अपमान है, जबकि अन्य ने कहा कि यह बिक्री बढ़ाने का एक सस्ता तरीका था और इससे भारतीय नागरिकों की देशभक्ति नहीं बढ़ेगी।

संहिता के अनुसार, ‘‘ध्वज का उपयोग किसी भी प्रकार की पोशाक या वर्दी के हिस्से के रूप में नहीं किया जाएगा। इसे तकिये, रूमाल, नैपकिन या बक्से पर मुद्रित नहीं किया जाएगा।’’
गौरतलब है कि ऐसा पहली बार नहीं है जब अमेजन को इस तरह की नाराजगी का सामना करना पड़ रहा है। 2017 में, अमेजन को भारत के कड़े विरोध के बाद अपनी कनाडाई वेबसाइट पर सूचीबद्ध भारतीय ध्वज वाले ‘डोरमैट’ को हटाना पड़ा था।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News