कांग्रेस सांसद ने डेटा संरक्षण विधेयक के ढांचे पर सवाल उठाए

punjabkesari.in Wednesday, Jan 19, 2022 - 08:45 AM (IST)

नयी दिल्ली, 18 जनवरी (भाषा) कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने मंगलवार को कहा कि डेटा संरक्षण विधेयक का ढांचा सरकार को ‘अधिभावी’ अधिकार देता है जिसमें डेटा संरक्षण प्राधिकरण को सरकार के निर्देशों को मानने के लिए बाध्य होना पड़ेगा।
उद्योग निकायों कट्स, सीसीएओआई और इंटरनेट सोसायटी द्वारा आयोजित एक पैनल चर्चा के दौरान तिवारी के इस विचार का बीजू जनता दल के सांसद अमर पटनायक ने भी समर्थन किया।
लोकसभा सांसद तिवारी ने कहा, ‘‘बुनियादी रूप से इस विधेयक का जैसा ढांचा बनाया गया है, वह एक अधिभावी ‘वीटो’ देता है। मुझे लगता है कि विधेयक के अंत में एक विशेष खंड है जिसके हिसाब से डेटा संरक्षण प्राधिकरण सरकार के निर्देशों को मानने को बाध्य होगा।’’ पटनायक ने भी तिवारी की बात का समर्थन करते हुए कहा, ‘‘‘इस विशेष खंड के अनुसार सरकार तय करेगी कि सार्वजनिक नीति क्या है? यह नजरिया डेटा संरक्षण प्राधिकरण (डीपीए) पर ‘बाध्यकारी’ होगी।’’



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News