गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत 50.78 करोड़ श्रम दिवस का रोजगार सृजित हुआ : सरकार

2021-08-03T13:12:27.813

नयी दिल्ली, तीन अगस्त (भाषा) सरकार ने बताया कि कोविड-19 महामारी के कारण गांव लौटने वाले प्रवासी कामगारों के लिये शुरू किये गए गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत 39,293 करोड़ के व्यय से 50.78 करोड़ श्रम दिवसों का रोजगार सृजित किया गया।

लोकसभा में हेमंत पाटिल और सुनील कुमार सिंह के प्रश्न के लिखित उत्तर में ग्रामीण विकास मंत्री गिरिराज सिंह ने यह जानकारी दी।
गिरिराज सिंह ने कहा कि भारत सरकार के कुल 12 मंत्रालयों/विभागों ने इस अभियान में भाग लिया।
उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी की स्थिति में गांव लौटने वाले प्रवासी कामगारों एवं प्रभावित नागरिकों के लिये गरीब कल्याण रोजगार अभियान शुरू किया गया था। इस अभियान के दौरान 39,293 करोड़ रुपये के व्यय से 50.78 करोड़ श्रम दिवसों का रोजगार सृजित किया गया।

ग्रामीण विकास मंत्री ने कहा कि महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना मांग आधारित मजदूरी रोजगार कार्यक्रम है। इसमें ग्रामीण परिवारों के लिए आजीविका सुरक्षा अर्थात आजीविका का तात्कालिक विकल्प उपलब्ध कराया जाता है। वित्त वर्ष 2020-21 में कुल 1.89 करोड़ नये रोजगार कार्ड जारी किये गए।
उन्होंने बताया कि वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान कुल 7.55 करोड़ परिवारों को रोजगार उपलब्ध कराया गया जो वर्ष 2019-20 की तुलना में 38 प्रतिशत अधिक है।

यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News