कोविड टीका परीक्षणों में भाग लेने वालों को कोविन के जरिये प्रमाणपत्र मिलेगा: स्वास्थ्य मंत्रालय

2021-07-27T22:53:43.87

नयी दिल्ली, 27 जुलाई (भाषा) केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि जिन लोगों ने कोविड के टीके के परीक्षणों में हिस्सा लिया था और जिन्हें प्लेसबो (प्रायोगिक दवा) नहीं, बल्कि टीके दिए गए थे, उन्हें कोविन के तहत कवर कर प्रमाण पत्र दिए जाएंगे।
प्लेसबो एक ऐसा पदार्थ या उपचार है जिसका कोई चिकित्सीय महत्त्व नहीं है।
एक सवाल के जवाब में कि क्या टीके के नैदानिक परीक्षण में भाग लेने वाले लोगों को कोविन द्वारा प्रमाणपत्र दिया जाएगा, मंत्रालय में संयुक्त सचिव, लव अग्रवाल ने कहा कि टीका परीक्षणों में भाग लेने वाले लोगों को पेपर सर्टिफिकेट दिए गए थे, लेकिन बाद में सवाल उठा कि क्या उन्हें कोविन के तहत भी कवर किया जाना चाहिए। इसी को ध्यान में रखते हुए एक आदेश जारी किया गया है।
उन्होंने एक संवाददाता सम्मेलन में बताया, "हमने आईसीएमआर से हमें उन लोगों की सूची देने के लिए कहा है जिन्होंने नैदानिक ​​परीक्षणों में भाग लिया और उस सूची के आधार पर, कोविन पर उनके लिए प्रमाण पत्र बनाए जाएंगे। नैदानिक ​​परीक्षणों में, कुछ लोगों को प्लेसबो दिया जाता है जबकि कुछ को टीका दिया जाता है इसलिए प्रमाण पत्र केवल उन्हीं लोगों के बनेंगे, जिन्हें टीके लगाए गए थे।" कोविन कोविड टीकाकरण पंजीकरण के लिए एक वेब पोर्टल है। यह एक व्यक्ति को टीके की खुराक लेने पर एक डिजिटल प्रमाणपत्र उपलब्ध कराता है।

यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News