मेट्रो ट्रेनें सर्वाधिक फेरों के साथ चल रही हैं: डीएमआरसी

2021-07-25T16:44:31.537

नयी दिल्ली, 25 जुलाई (भाषा) मेट्रो में यात्रियों की संख्या पर भले ही पाबंदियां हो, लेकिन दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) इस स्थिति से निपटने के लिए अधिकतम ट्रेनें चला रहा है जो प्रतिदिन सर्वाधिक 5100 से अधिक फेरे लगा रही है और कोविड से पहले के समय में भी ट्रेनों द्वारा इतने ही फेरे लगाये जाते थे। अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी।

दिल्ली सरकार ने कोरोना वायरस की स्थिति में सुधार के मद्देनजर शनिवार को पाबंदियों में और ढील देने की घोषणा की। इसके बाद दिल्ली मेट्रो ने कहा कि 26 जुलाई से उसकी सेवाएं बैठने की पूरी क्षमता के साथ चलेंगी लेकिन मेट्रो में खड़े होकर यात्रा करने की अनुमति नहीं होगी।

डीएमआरसी सात जून से बैठने की आधी क्षमता के साथ ट्रेनें चला रहा है। लंबे अंतराल के बाद सात जून को मेट्रो सेवाएं बहाल हुई थीं। तब से विभिन्न मेट्रो स्टेशनों के बाहर यात्रियों की भारी भीड़ नजर आ रही है। हालांकि डीएमआरसी का कहना है कि वह कोविड नियमों का पालन कर रहा है।
निगम ने एक बयान में दोहराया कि यात्रा के दौरान यात्रियों की संख्या पर भले ही पाबंदी है लेकिन वह सर्वाधिक 5100 से अधिक फेरों का संचालन कर रहा है जितना कोविड से पहले संचालित किये जाते थे और इस धारणा में कोई दम नहीं है कि वह यात्रा पाबंदियों के कारण कम ट्रेनें चला रहा है। उसके अनुसार पहले रोजाना 60 लाख से अधिक यात्री सफर करते थे।
उसने कहा कि प्रशासन द्वारा घोषित दिशानिर्देश उसके लिए बाध्यकारी हैं। उसने लोगों से एक बार फिर बहुत जरूरी होने पर ही यात्रा करने एवं कोविड संबंधी यात्रा नियमों का पालन करने की अपील की।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News