सिेयेट का मांग के जोर पकड़ने की उम्मीद के साथ उत्पादन बढ़ाने का लक्ष्य

2021-07-25T15:34:55.58

नयी दिल्ली, 25 जुलाई (भाषा) प्रमुख टायर कंपनी सियेट कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि कंपनी घरेलू और निर्यात दोनों बाजारों में बढ़ी हुई मांग को पूरा करने के उद्देश्य से अगले 18 महीनों में उत्पादन क्षमता बढ़ाकर लगभग 1,400 टन प्रतिदिन करना चाहती है।

आरपीजी समूह की इस प्रमुख कंपनी को उम्मीद है कि अगली कुछ तिमाहियों में घरेलू बाजार में मांग में तेजी आएगी। कोविड-19 की स्थिति में सुधार के साथ कंपनी पहले से ही अपने कई निर्यात बाजारों में मांग में तेजी देख रही है।

सभी प्रकार के दोपहिया, यात्री और वाणिज्यिक वाहनों के लिए टायर बनाने वाली कंपनी मौजूदा वित्तीय वर्ष में विभिन्न विस्तार परियोजनाओं के लिए लगभग 1,000 करोड़ रुपये का पूंजीगत व्यय करने की योजना बना रही है।

सियेट के प्रबंध निदेशक अनंत गोयनका ने पीटीआई-भाषा से कहा, "हमारी कुल उत्पादन क्षमता लगभग 1,100 टन प्रतिदिन है और हम अगले डेढ़ वर्षों में इसे बढ़ाकर 1,300 से 1,400 टन प्रतिदिन करना चाहते हैं।"
उन्होंने कहा कि कंपनी ने अपने विभिन्न संयंत्रों में उत्पादन क्षमता बढ़ाने के लिए पहले ही निवेश करना शुरू कर दिया है।

गोयनका ने कहा, "हमने चेन्नई में यात्री कार टायर विनिर्माण संयंत्र में 3,200 करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की थी। संयंत्र पिछले एक साल से तैयार है और हम वहां क्षमता का लाभ उठाने के स्तर पर हैं।"
उन्होंने कहा, "हमने ऑफ हाईवे टायर खंड के विस्तार में लगभग 100 करोड़ रुपये और ट्रक रेडियल टायर पर 1,200 रुपये का निवेश किया है। इसलिए कई अलग-अलग निवेश किए जा रहे हैं।"


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News