जातोबा फली के व्यापार के नाम पर ठगी करने के आरोप में तीन गिरफ्तार

2021-07-22T10:56:41.263

नयी दिल्ली, 21 जुलाई (भाषा) पुलिस ने जातोबा फली के व्यापार से भारी मुनाफा कमाने के बहाने मदद करने के नाम पर एक व्यक्ति से कथित रूप से 13.5 लाख रुपये की ठगी करने के लिए तीन लोगों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने बुधवार को बताया कि आरोपियों की पहचान पेरुमल स्टेला (25), चिंगेरेम कालू (27) और अकीनोला तिमोती ओलुवासेवन के तौर पर हुई है। सभी बेंगलुरु के निवासी हैं। पुलिस ने बताया कि ठगी का एहसास होने के बाद एक व्यक्ति ने ख्याला थाने में शिकायत दर्ज कराई।

शिकायत के मुताबिक, पीड़ित व्यक्ति की मुलाकात एक महिला से मार्च में डेटिंग ऐप पर हुई थी जिसने खुद को अमेरिका के टेक्सास में ऑस्टिन का निवासी, रियोना काहिल बताया था। पुलिस ने बताया कि दोनों में दोस्ती होने के बाद महिला ने उसे एक कारोबार प्रस्ताव दिया था। महिला ने कहा कि उसकी कंपनी उसके एक सहयोगी के माध्यम से भारत से जातोबा फली खरीदती है जो अब कंपनी छोड़ चुका है।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि उसने पीड़ित को यह कहकर लालच दिया कि वह प्रति 100 ग्राम 300 से 350 डॉलर की कीमत से जातोबा के बीज खरीदती थी और फिर उसे प्रति सैशे 500 डॉलर पर बेचती थी।

जातोबा की लकड़ी और फली बहुमूल्य होते हैं। इसकी सख्त लकड़ी से फर्नीचर, सजावट के सामान आदि बनाये जाते हैं।

उसने शख्स को प्रस्ताव दिया कि वह अपनी कंपनी में उसका परिचय भारत में जातोबा फली के आपूर्तिकर्ता के तौर पर करा सकती है और अगर सौदा हुआ तो वे साथ में अच्छा मुनाफा कमाएंगे।

पुलिस ने बताया कि इस दौरान उसने पीड़ित को दो और लोगों से मिलवाया और शिकायकर्ता से 60 सैशे के लिए 13,50,000 रुपये वसूले गए।

पुलिस उपायुक्त (पश्चिम) उर्विजा गोयल ने बताया कि आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके पास से तीन लैपटॉप, 21 मोबाइल फोन और 24 सिम कार्ड बरामद किए गए हैं।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News