जम्मू-कश्मीर का राज्य का दर्जा बहाल करे केन्द्र: कांग्रेस

2021-06-20T17:10:02.937

नयी दिल्ली, 20 जून (भाषा) जम्मू-कश्मीर को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा बुलाई गई बैठक से पहले कांग्रेस ने रविवार को कहा कि केन्द्र को संविधान और लोकतंत्र के हित में, जम्मू-कश्मीर का राज्य का दर्जा बहाल करने की मांग स्वीकार करनी चाहिये।

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने हालांकि यह नहीं बताया कि पार्टी 24 जून को होने वाली बैठक में हिस्सा लेगी या नहीं। सुरजेवाला ने 6 अगस्त 2019 को हुई कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक की ओर ध्यान दिलाया, जिसमें पार्टी ने स्पष्ट रूप से जम्मू-कश्मीर का पूर्ण राज्य का दर्जा बहाल करने की मांग की थी।

इस मुद्दे के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ''''हमें लगता है कि ऐसा न करना लोकतंत्र और संवैधानिक सिद्धांतों पर प्रत्यक्ष हमला है।''’दरअसल, प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में 24 जून को अपराह्न तीन बजे एक उच्चस्तरीय बैठक होनी है, जिसके लिये जम्मू-कश्मीर के चार पूर्व मुख्यमंत्रियों समेत 14 नेताओं को निमंत्रण भेजा गया है। इसी संदर्भ में कांग्रेस का यह बयान आया है।

माना जा रहा है कि इस बैठक में जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव का रोडमैप तय किया जाएगा।

सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस का मानना है कि जम्मू-कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा देने के साथ-साथ चुनाव भी कराए जाने चाहिये, ताकि लोग अपने प्रतिनिधियों का चुनाव कर सकें और दिल्ली के शासन की जगह राज्य के कार्यों को आगे बढ़ाने के लिये अपनी विधानसभा हो। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में लोकतांत्रिक अधिकारों को पूरी तरह बहाल करने की गारंटी देने का यही एकमात्र मार्ग है।

सुरजेवाला ने कहा कि केन्द्र को संविधान और लोकतंत्र के हित में, जम्मू-कश्मीर का राज्य का दर्जा बहाल करने की कांग्रेस की मांग को स्वीकार करना चाहिये।

केंद्र द्वारा पांच अगस्त 2019 को जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म किए जाने और इसे केंद्रशासित प्रदेश बनाए जाने के बाद से प्रधानमंत्री की जम्मू कश्मीर के सभी राजनीतिक दलों के साथ यह पहली बातचीत होगी।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News