कैबिनेट सचिव ने डीपीआईआईटी सचिव डॉ. गुरुप्रसाद महापात्र के निधन पर शोक व्यक्त किया

2021-06-20T00:15:47.26

नयी दिल्ली, 19 जून (भाषा) कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग (डीपीआईआईटी) के सचिव डॉ. गुरुप्रसाद महापात्र के असमय निधन पर शनिवार को गहरा शोक व्यक्त किया और उन्हें असाधारण गुणों वाला एक उत्कृष्ट प्रशासनिक अधिकारी बताया ।
गौबा ने अपने शोक संदेश में कहा, ‘‘ डॉ. महापात्र एक प्रिय सहयोगी थे और कार्यनीतिक सोच तथा नेतृत्व के असाधारण गुणों वाले एक उत्कृष्ट प्रशासनिक अधिकारी थे।’’ उन्होंने कहा कि अधिकारिता समूहों में से एक के प्रमुख के रूप में, उन्होंने कोविड-19 महामारी के खिलाफ वर्तमान लड़ाई में पूर्ण समर्पण के साथ काम किया।
कैबिनेट सचिव ने कहा कि जांच में संक्रमित पाए जाने तथा अस्वस्थ होने के बावजूद, उन्होंने लंबे समय तक काम करना जारी रखा और बहुत चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में देश भर में ऑक्सीजन की आपूर्ति की निगरानी करते रहे।
गौबा ने कहा कि वह अपने सक्रिय दृष्टिकोण तथा सार्वजनिक सेवा के प्रति अपनी प्रतिबद्धता के लिए याद रखे जाएंगे।
उन्होंने कहा, ‘‘उनका (महापात्र का) असमय निधन हम सभी लोगों के लिए एक अपूरणीय क्षति है। मैं उनके परिवारजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं।’’
गौरतलब है कि महापात्र का शनिवार को कोविड-19 संबंधी जटिलताओं के कारण निधन हो गया। उन्हें अप्रैल में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती कराया गया था।

वर्ष 2019 के अगस्त में डीपीआईआईटी के सचिव का कार्यभार संभालने से पहले गुजरात कैडर के भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी रहे महापात्र ने भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के अध्यक्ष के रूप में भी काम किया था।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News