राजनाथ ने बीआरओ के दो उत्कृष्टता केंद्रों का उद्घाटन किया

6/11/2021 3:45:29 PM

नयी दिल्ली, 11 जून (भाषा) रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) के दो उत्कृष्टता केंद्रों का उद्घाटन किया। बीआरओ की स्थापना सड़कों, पुलों, सुरंगों आदि के निर्माण को बढ़ावा देने के साथ ही सड़क सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए की गयी थी।

अधिकारियों ने बताया कि एक उत्कृष्टता केंद्र देश के पूर्वी और पश्चिमोत्तर हिस्सों में लगभग 60,000 किलोमीटर सड़कों, 56,000 मीटर पुलों, 19 हवाई पट्टियों और चार सुरंगों के विकास के क्रम में बीआरओ को मिले अनुभव को संस्थागत रूप देगा। दोनों केंद्र राष्ट्रीय राजधानी में बीआरओ मुख्यालय में स्थापित किए गए हैं।

रक्षा मंत्रालय ने कहा, "इन केंद्रों की स्थापना सड़क सुरक्षा के साथ-साथ सड़कों, पुलों, हवाई पट्टियों और सुरंगों के निर्माण में बढ़ावा देने में उत्कृष्टता हासिल करने के लिए की गई है।"
इस अवसर पर अपने संबोधन में रक्षा मंत्री सिंह ने दोनों केंद्रों की स्थापना में बीआरओ के प्रयासों की सराहना की और भेरासा जताया कि वे लोगों की कीमती जान को बचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे।

सिंह ने सड़क दुर्घटनाओं को मूक महामारी बताया जिसमें हर साल करीब 1.5 लाख लोगों की मौत हो जाती है। उन्होंने कहा कि सरकार ने राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा नीति, मोटर वाहन कानून 2020 और राष्ट्रीय राजमार्गों पर खतरनाक स्थानों की पहचान जैसी कई पहल की हैं ताकि इस संकट का सामना किया जा सके।

सिंह ने दूरदराज के इलाकों में सड़कों, सुरंगों और अन्य आधारभूत ढांचे का विकास कर देश की प्रगति में बीआरओ की भूमिका की भी सराहना की। उन्होंने सीमावर्ती क्षेत्रों में, खासकर कोविड महामारी के दौरान सड़क संपर्क बढ़ाने के लिए कठिन मौसम में भी अथक रूप से काम करने के लिए बीआरओ की सराहना की।

उन्होंने कहा कि बीआरओ सशस्त्र बलों की जरूरतों को पूरा करने के साथ ही सीमावर्ती क्षेत्रों के सामाजिक-आर्थिक विकास की दिशा में भी काम कर रहा है। उन्होंने विशेष रूप से बीआरओ की हालिया उपलब्धियों का जिक्र किया, जिनमें रोहतांग और जोजिला दर्रे में अटल सुरंग का निर्माण शामिल है।

सिंह ने बीआरओ के विकास के लिए सरकार द्वारा उठाए गए विभिन्न कदमों की भी चर्चा की। इनमें बीआरओ के बजट में वृद्धि, संगठन के कर्मियों के लिए विशेष ऊंचाई वाले क्षेत्रों में पहने जाने वाले कपड़ों की मंजूरी के साथ ही कर्मचारियों का मनोबल बढ़ाने के लिए कैडर समीक्षा शामिल हैं।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News

static