मशहूर सितारवादक पंडित देबू चौधरी का कोविड-19 संबंधी जटिलताओं के चलते निधन

5/1/2021 3:07:29 PM

नयी दिल्ली, एक मई (भाषा) प्रख्यात सितारवादक पंडित देवब्रत चौधरी (85) का कोविड-19 संबंधी जटिलताओं के कारण शनिवार को दिल्ली के एक अस्पताल में निधन हो गया। उनके बेटे प्रतीक चौधरी ने यह जानकारी दी।

प्रतीक ने देबू चौधरी के नाम से प्रसिद्ध, अपने पिता के निधन की जानकारी अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर दी।

उन्होंने लिखा, “मेरे पिता, सितार के दिग्गज, पंडित देबू चौधरी...नहीं रहे। उन्हें कोविड के साथ ही मनोभ्रंश की जटिलताओं के साथ भर्ती कराया गया और उन्हें आज (एक मई, 2021) मध्यरात्रि के आस-पास आईसीयू में वेंटिलेटर पर रखा गया था..जिसके बाद उन्हें दिल का दौरा पड़ा और उन्हें बचाया नहीं जा सका।”
सितारवादक के परिवार में उनके बेटे प्रतीक, बहू रूना और पोती रयाना तथा पोता अधिराज हैं।

उनकी नाजुक स्थिति को लेकर संकट का एक संदेश (एसओएस) ट्विटर पर पोस्ट किया गया था। उनके प्रशंसकों के संदेश के बाद, चौधरी को गुरु तेग बहादुर अस्पताल में भर्ती कराया गया। बाद में उन्हें आईसीयू में रखा गया, लेकिन उनकी स्थिति बिगड़ गई।

चौधरी का नाम उस्ताद विलायत खान, पंडित रविशंकर और पंडित निखिल बनर्जी जैसे भारत के प्रख्यात सितारवादकों में गिना जाता है। वह जयपुर के सेनिया संगीत घराना से थे जिसे तानसेन परिवार के वंशजों ने शरू किया था और जिन्हें रागों की शुद्धता को संरक्षित रखने के लिए जाना जाता है।
उन्हें पद्म भूषण और पद्मश्री से सम्मानित किया गया था। वह शिक्षक और लेखक भी थे जिन्होंने छह पुस्तकें लिखीं और नये राग बनाए। मुश्ताक अली खान के शागिर्द, चौधरी का जन्म 1935 में म्यमेनसिंह (अब बांग्लादेश में) हुआ था। भारत के महान शास्त्रीय संगीतज्ञों की तरह उन्होंने बाल्यावस्था में, जब वह महज चार साल के थे तभी से प्रशिक्षण प्राप्त करना शुरू कर दिया था।

भारतीय शास्त्रीय संगीत जगत को एक हफ्ते के अंतराल पर कोविड-19 के कारण अपने दो दिग्गजों को खोना पड़ा है। 25 अप्रैल को हिंदुस्तानी गायक पंडित राजन मिश्रा की कोविड-19 संबंधी जटिलताओं और दिल्ली के अस्पताल में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं की तलाश में मौत हो गई थी।

चौधरी के निधन पर शोक प्रकट करते हुए संगीतज्ञ निलाद्री कुमार ने कहा, ‘‘कोविड और उसकी जटिलताओं के कारण सितारवादक पंडित देबू चौधरी जी के निधन की एक और दुखभरी खबर। उनका विरासत उनके बेटे के माध्यम से जारी रहे यही कामना है और उनकी आत्मा की शांति की प्रार्थना करते हैं।ओम शांति।”
चौधरी के साथी पवन झा ने 28 अप्रैल को दोपहर करीब चार बजे उनकी गंभीर हालत की जानकारी देते हुए ट्विटर पर मदद मांगी थी। बाद में उन्होंने इस जानकारी को अद्यतन किया और उन्हें जीटीबी अस्पताल ले जाए जाने की जानकारी दी।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News

static