भारत के सीएजी को वैश्विक निकाय का बाह्य लेखा परीक्षक चुना गया

2021-04-22T00:47:00.353

नयी दिल्ली, 21 अप्रैल (भाषा) भारत के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (सीएजी) को बुधवार को रासायनिक हथियारों के निरस्त्रीकरण के लिये काम कर रहे प्रतिष्ठित अंतर-सरकारी संगठन का बाह्य लेखा परीक्षक चुना गया है। विदेश मंत्रालय ने यह जानकारी दी।

मंत्रालय ने कहा कि भारत का चयन अंतरराष्ट्रीय समुदाय के बीच उसकी हैसियत को मान्यता देता है।

मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि हेग स्थित रासायनिक हथियार निरस्त्रीकरण संगठन (ओपीसीडब्ल्यू) की ''कांफ्रेंस ऑफ स्टेट पार्टीज'' ने सीएजी को तीन साल के लिये अपना बाह्य लेखा परीक्षक चुना है। उनका कार्यकाल 2021 से शुरु होगा।

बयान में कहा गया है कि बुधवार को ओपीसीडब्ल्यू सम्मेलन में चुनाव प्रक्रिया के तहत यह नियुक्ति की गई है, जहां भारत को अन्य की तुलना में जबरदस्त समर्थन मिला।

बयान में कहा गया है, ''''भारत का चयन अंतरराष्ट्रीय समुदाय के बीच उसकी हैसियत के साथ-साथ पेशेवरवाद, उच्च मानकों, वैश्विक अनुभव और भारत के सीएजी के प्रतिस्पर्धी प्रयासों को मान्यता देता है।''''
मंत्रालय ने कहा, ''''सम्मलेन के दौरान भारत को एक बार फिर दो वर्ष के लिये ओपीसीडब्ल्यू की कार्यकारी परिषद के सदस्य के रूप में भी चुना गया है, जो एशिया समूह का प्रतिनिधित्व करता है।''''''


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

PTI News Agency

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static