जॉनसन एंड जॉनसन ने भारत में अपने कोविड-रोधी टीके के क्लिनिकल परीक्षण के लिये मंजूरी मांगी

2021-04-20T22:09:33.023

नयी दिल्ली, 20 अप्रैल (भाषा) दवा और चिकित्सा उपकरण बनाने वाली बहुराष्ट्रीय कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन ने मंगलवार को कहा कि उसने भारत के औषधि नियामक से अपने एक खुराक वाले टीके के चिकित्सीय परीक्षण के लिये अनुमति मांगी है। इसका मकसद स्थानीय नियमन का अनुपालन करना है।

अमेरिकी खाद्य एवं औषधि प्रशासन (यूएसएफडीए) ने फरवरी में जॉनसन एंड जॉनसन के कोविड-19 रोधी टीके को मंजूरी दे दी थी। इस टीके की एक ही खुराक की जरूरत पड़ती है।
कंपनी ने एक बयान में कहा, ‘‘जॉनसन एंड जॉनसन स्वास्थ्य प्राधिकरणों और दुनिया के बेहतरीन वैज्ञानिकों के साथ मिलकर दुनिया भर में अपने कोविड-रोधी टीके जॉनसन के आपात उपयोग को लेकर जरूरी आंकड़े उपलब्ध करा रही है।’’ उल्लेखनीय है कि सरकार ने पिछले सप्ताह दूसरे देशों में उत्पादित उन सभी टीकों के आपात उपयोग के लिये तेजी से मंजूरी देने का निर्णय किया, जिसे विश्व स्वास्थ्य संगठन या अमेरिका, यूरोप, ब्रिटेन या जापान में नियामकों से मंजूरी मिली है। सरकार के इस निर्णय के बाद जॉनसन एंड जॉनसन ने परीक्षण की मंजूरी मांगी है।

बयान के अनुसार, ‘‘हमने भारतीय औषधि महानियंत्रक से अपने एकल खुराक वाले कोविड रोधी टीका जॉनसन के क्लिनिकल परीक्षण को पूरा करने के लिये मंजूरी को लेकर आवेदन दिया है ताकि स्थानीय नियमन को पूरा किया जा सके।’’
कंपनी के टीके को रेफ्रिजरेटर तापमान पर रखा जा सकता है।

यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

PTI News Agency

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static