डीपीसीसी ने यातायात पुलिस, नगर निगम से कहा, ध्वनि प्रदूषण कम करने के लिए उठाएं कदम

2020-08-10T17:32:21.767

नयी दिल्ली, 10 अगस्त (भाषा) दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समीति (डीपीसीसी) ने यातायात पुलिस, लोक निर्माण विभाग और नगर निगमों से शहर में ध्वनि प्रदूषण कम करने के लिए कदम उठाने और इस संबंध में की गई कार्रवाई की रिपोर्ट 20 अगस्त तक सौंपने को कहा है।

दिल्ली में जून में 31 स्थानों पर किए गए विश्लेषण के बाद ये निर्देश जारी किए गए हैं। उसमें पाया गया था कि 26 स्थानों पर ध्वनि प्रदूषण का स्तर निर्धारित सीमा से अधिक था।

इन स्थानों में अस्पताल, शैक्षणिक संस्थान, वाणिज्यिक और आवासीय क्षेत्र भी शामिल थे।

डीपीसीसी के अनुसार जुलाई में किए गए सर्वेश्रण में पाया गया कि इन स्थानों पर वाहनों की आवाजाही, यातायात की भीड़, हार्न बजाने, संकीर्ण सड़कें, पार्किंग स्थलों पर भीड़, निर्माण गतिविधियां आदि के कारण ध्वनि प्रदूषण अधिक था।

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने दिल्ली यातायात पुलिस और पीडब्ल्यूडी से संकीर्ण सड़कों को ठीक करने और और यातायात के सुचारू प्रवाह को सुनिश्चित करने के लिए सड़कों का पुनर्निर्माण करने को कहा है ताकि ध्वनि प्रदूषण कम किया जा सके।

अधिकारियों के अनुसार एजेंसियों से इस संबंध में उठाए गए कदमों की रिपोर्ट 20 अगस्त तक सौंपने को कहा है।

डीपीसीसी ने नगर निगमो से पार्किंग स्थलों, बाजारों पर ‘‘ ‘अराजकता की स्थिति’ खत्म करने और ध्वनि प्रदूषण की सीमा के भीतर शोर के स्तर को लाने के लिए निर्माण स्थलों के आसपास ‘नॉइज़ बैरियर’ लगाने को भी कहा है।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

Edited By

PTI News Agency

Related News