See More

सहकारिता आंदोलन को बढ़ावा देने वाले मंच की अगुवाई करेंगे सुरेश प्रभु

2020-06-30T20:21:34.77

नयी दिल्ली, 30 जून (भाषा) पूर्व केंद्रीय मंत्री और राज्यसभा सदस्य सुरेश प्रभु सहकारी विकास मंच (सीडीएफ) की अगुवाई करेंगे, जो देश में सहकारी आंदोलन को बढ़ावा देने और ग्रामीण अर्थव्यवस्था में तेजी लाने के लिए काम करेगा।

एक बयान के अनुसार इस मंच को 24 जुलाई के दिन औपचारिक रूप से शुरु किया जा सकता है।
सात प्रमुख सहकारी नेता इस मंच का हिस्सा होंगे। इनमें एनसीयूआई के अध्यक्ष और सांदस सी पी यादव, इफको के एमडी यू एस अवस्थी, एनएएफएससीओबी के अध्यक्ष दिलीप भाई संघानी, एनएएफसीयूबी के अध्यक्ष ज्योतिंद्र मेहता, आरबीआई के केंद्रीय बोर्ड के निदेशक सतीश मराठे, एनसीडीएफआई के अध्यक्ष मंगल जीत राय और सहकार भारती के राष्ट्रीय महासचिव उदय जोशी शामिल हैं।
प्रभु जी20 में भारत के शेरपा भी हैं यानी राष्ट्राध्यक्ष का प्रतिनिधित्व करते हैं। उनकी अध्यक्ष वाला यह मंच पांच कार्य बिंदुओं की पहचान करेगा, जिनमें आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए आधुनिक राष्ट्रीय/ राज्य सहकारी नीति तैयार करना शामिल है।

इसके अलावा यह मंच वित्त मंत्रालय के तहत आने वाले वित्तीय सेवा विभाग में वित्तीय सहकारी संस्थानों के लिए एक खंड बनाने की दिशा में भी काम करेगा।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

Edited By

PTI News Agency

Related News