भारत-चीन बॉर्डर पर जवानों संग दिवाली मना PM मोदी ने की केदार बाबा की पूजा

देहरादून: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज दीपावली के पर्व पर केदारनाथ धाम पहुंचे और बाबा भोलेनाथ के दर्शन तथा पूजा अर्चना की। मंदिर के कपाट बंद होने से दो दिन पूर्व मंदिर के दर्शन करने पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी के साथ उत्तराखंड की राज्यपाल बेबीरानी मौर्य, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्रे सिंह रावत, मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह भी मौजूद थे।   मंदिर के अंदर करीब 10 15 मिनट पूजा करने के बाद मोदी ने मंदिर की परिक्रमा की और पिछले कुछ दिनों में धाम में हुई बर्फबारी से खूबसूरत हुए नजारे का भी दीदार किया।

PunjabKesari

प्रधानमंत्री ने मंदिर प्रांगण में लगाई गई केदारनाथ की तस्वीरों का भी अवलोकन किया जिसमें वर्ष 2013 में आई प्रलयंकारी भीषण आपदा से उजड़ गए क्षेत्र के पुनर्निर्माण की यात्रा को दर्शाया गया था। मंदिर की ओर जाने वाले मार्ग ‘आस्था पथ’ के दोनों ओर खड़े श्रद्धालुओं तथा स्थानीय लोगों का भी प्रधानमंत्री ने हाथ हिलाकर अभिवादन स्वीकार किया और उन्हें दीपावली की शुभकामनाएं भी दीं। मोदी ने केदारनाथ मंदिर के चारों तरफ घूम—घूम कर वहां चल रहे पुनर्निर्माण कार्यों तथा व्यवस्था का भी जायजा लिया। प्रधानमंत्री ने इसके अलावा धीमी गति से चल रहे एक विशेष वाहन में बैठकर मंदाकिनी नदी के किनारे केदारपुरी में पुनर्निर्माण परियोजनाओं का भी निरीक्षण किया। आपदा में क्षतिग्रस्त होने के बाद पुनर्निर्मित उदक कुंड का भी उन्होंने अवलोकन किया।

PunjabKesari भारत-चीन बॉर्डर पर मोदी की जवानों संग दिवाली
केदार बाबा के दर्शनों से पहले पीएम मोदी सेना और भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल (आईटीबीपी) के र्किमयों के साथ दीपावली मनाने के लिए उत्तराखंड में, भारत-चीन सीमा के पास स्थित हर्षिल पहुंचे। मोदी के कार्यालय की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक, इस मौके पर जवानों को बधाई देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि दूर-दराज के इलाकों में बर्फीले पहाड़ों पर ड्यूटी करने की उनकी लगन राष्ट्र की ताकत को और मजबूत बनाती है और 125 करोड़ भारतीयों के सपने एवं भविष्य को सुरक्षित करती है। उन्होंने कहा कि दीपावली प्रकाश का उत्सव है, यह अच्छाई की रोशनी फैलाता है और भय को खत्म करता है।

PunjabKesari

उन्होंने कि जवान अपनी प्रतिबद्धताओं एवं अनुशासन से लोगों में सुरक्षा और निडरता का भाव पैदा करने में मदद करते हैं। प्रधानमंत्री ने याद किया कि वह दीपावली पर तब से सैनिकों से मिलने आ रहे हैं जब वह गुजरात के मुख्यमंत्री थे। उन्होंने आईटीबीपी के जवानों के साथ एक साल पहले हुई बातचीत का भी जिक्र किया जब वह कैलाश मानसरोवर यात्रा का हिस्सा बने थे। प्रधानमंत्री ने जवानों को मिठाई बांटी। उन्होंने दीपावली के मौके पर उन्हें बधाई देने के लिए जमा हुए आस-पास के इलाके से आए लोगों से भी बात की। बता दें कि हर्षिल एक छावनी इलाका है जो उत्तरकाशी जिले में भारत-चीन सीमा के करीब 7,860 फुट की ऊंचाई पर स्थित है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!