जेटली पर दिए बयान से पलटे माल्या, कहा नहीं हुई कोई मुलाकात

लंदनः भगोड़ा कारोबारी विजय माल्या ने अरुण जेटली पर दिए बयान के बाद सफाई दी है। माल्या ने कहा कि जेटली से मेरी औपचारिक मुलाकात नहीं हुई थी। मेरे बयान को गलत तरीके से पेश किया गया है। उन्होंने कहा कि मैं अपने लंदन आने की परस्थितियां बता रहा हूं।

बता दें कि आज लंदन में वेस्टमिन्स्टर मजिस्ट्रेट की अदालत के बाहर भगोड़ा कारोबारी विजय माल्या ने बताया कि उसने देश छोड़ने से पहले वित्त मंत्री से मुलाकात की थी और बैंकों के साथ मामले का निपटारा करने की पेशकश की थी। बैंक ने सेटलमेंट लेटर पर आपत्ति जताई थी। माल्या ने कहा, "मैं भारत से रवाना हुआ, क्योंकि मेरा जेनेवा में एक मुलाकात का कार्यक्रम था।"

माल्‍या ने कहा कि आईडीबीआई बैंक के अधिकारी किंगफिशर को हुए घाटे से अच्‍छी तरह वाकिफ थे। बैंक अधिकारियों के ई-मेल से यह बात साबित होती है। ऐसे में सरकार ने उन पर कंपनी को हुए घाटे को छिपाने का जो आरोप लगाया है, वो आधारहीन है। 

माल्या से जब वेस्टमिन्स्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट के बाहर पूछा गया कि क्या कोर्ट को इस बात का यकीन हो गया है कि उनके पास इतने संसाधन हैं कि वह अपने वादे के मुताबिक भुगतान कर सकेंगे, तो विजय माल्या ने जवाब में कहा, "देखिए, ये ज़ाहिर है... इसीलिए सेटलमेंट की पेशकश की गई है।"

देश छोड़कर भागने से पहले वित्त मंत्री अरूण जेटली से मिलने के विजय माल्या के खुलासे को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को ‘पूरी तरह से सकते’ में डालने वाला बताया। कई ट्वीटों की श्रृंखला में केजरीवाल ने पूछा,‘’वित्त मंत्री अब तक यह सूचना क्यों छुपा कर रखे हुए थे।‘’ केजरीवाल ने इसे बेहद सकते में डालने वाला बताया है।


दिल्ली के मुख्यमंत्री ने ट्वीट में कहा,‘’प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, नीरव मोदी के देश छोड़कर जाने से पहले उससे मिलते हैं। विजय माल्या के देश से छोड़कर जाने से पहले वित्त मंत्री उससे मिलते हैं। इन बैठकों में क्या पकाया जा रहा था? जनता यह जानना चाहती है।‘’

माल्या पर बैंकों का 9 हजार करोड़ रुपए का कर्ज
किंगफिशर के मालिक 62 साल के माल्या पर भारतीय बैंकों का 9 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का कर्ज है। मार्च 2016 में वो विदेश भाग गया था। तब से वह लंदन में ही है। भारत में उसके खिलाफ भगोड़ा आर्थिक अपराधी कानून के तहत मामला चल रहा है। मुंबई स्थित विशेष अदालत ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की याचिका पर माल्या से 24 सितंबर तक जवाब मांगा है। ईडी ने नए कानून के तहत माल्या को भगोड़ा घोषित करने और 12,500 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त करने की मांग की थी।

 

लंदन में भारत-इंग्लैंड का टेस्ट देखने पहुंचा था माल्या
माल्या शुक्रवार और शनिवार दो दिन भारत और इंग्लैंड के बीच खेला गया ओवल टेस्ट देखने पहुंचा था। भारत लौटने के सवाल पर उसने कहा कि था कि इसका फैसला ब्रिटिश कोर्ट के जज करेंगे। 
 

× RELATED माल्या के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल करेगी CBI, बैंक अधिकारियों पर गिरेगी गाज