Ex CM बोले-न मैं और न मेरा परिवार, मकरझंडू ही लड़ेगा मंडी से चुनाव

नेरचौक: पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने कहा कि जिस तरह से कांग्रेस पार्टी अपने संविधान की उलंघना करते हुए आगे बढ़ रही है उससे नहीं लगता कि आने वाले समय में कांग्रेस पार्टी एक सशक्त रूप हासिल कर पाएगी। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि संगठन में बिना चुनाव के आए नेताओं से कार्यकर्ताओं में जोश की कमी रहती है और नए युवा भी पार्टी के साथ नहीं जुड़ते हैं जबकि प्रदेश में पार्टी की कमान पिछले कई वर्षों से बैठे अध्यक्ष सुखविंद्रर सिंह सुक्खू संभाल रहे हैं। उन्होंने पार्टी की संगठनात्मक स्थिति को नाजुक बताते हुए कहा कि ऐसे ही हालात रहे तो प्रदेश में कांग्रेस का भविष्य और अधिक दयनीय स्थिति में नजर आएगा।


...तब तक कांग्रेस का भविष्य प्रदेश स्तर पर उज्ज्वल नहीं हो सकता
उन्होंने कहा कि पूर्व में जवाहर लाल नेहरू के समय से आज तक सभी प्रधानमंत्रियों के साथ मैंने कार्य किया है और जनता जनार्दन के आशीर्वाद से 6 बार प्रदेश की कमान संभालने का मुझे सौभाग्य प्राप्त हुआ है। यदि कांग्रेस को प्रदेश में मजबूत करना है तो संगठनात्मक ढांचे को चलाने के लिए पार्टी के संविधान की अनुपालना अति आवश्यक है। जिला व प्रदेश में हर स्तर पर संविधान के तहत प्रक्रिया अपनाते हुए चुनावों द्वारा कार्यकारिणीयों का गठन जब तक नहीं हो होगा तब तक कांग्रेस का भविष्य प्रदेश स्तर पर उज्ज्वल नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा कि मैं कांग्रेस की प्रदेश में मौजूदा हालात को देखते हुए हताश हूं। मैंने अपना जीवन सदैव कांग्रेस की मजबूती के लिए समर्पित किया है। मंडी लोकसभा सीट से चुनाव में उतरने के सवाल पर उन्होंने कहा कि न तो मैं और न ही परिवार का कोई सदस्य इस बार मंडी लोकसभा से चुनाव लड़ेगा। इस बार कोई नया मकरझंडू ही लोकसभा चुनाव में उतारा जाएगा।


जयराम सरकार अभी अनुभवहीन है
उन्होंने प्रदेश की जयराम सरकार को अभी अनुभवहीन करार देते हुए कहा कि जयराम को सरकार चलाने की मैं शुभकामनाएं देता हूं। बशर्ते उनके अपने घर में ही बैठे विरोधी उनके पांव न खींचे। इस मौके पर उनके साथ विधायक विक्रमादित्य सिंह, पूर्व आबकारी एवं कराधान मंत्री प्रकाश चौधरी, पूर्व सी.पी.एस. सोहन लाल ठाकुर, पूर्व मिल्क फैडरेशन अध्यक्ष चेत राम ठाकुर, पूर्व ओ.एस.डी. अमित पाल, हरेंद्र सेन, कांग्रेस प्रवक्ता केशव नायक आदि मौजूद रहे।


...तो कर सकता हूं मानहानी का मुकद्दमा
पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि चंडीगढ़ से बेबुनियाद बयानबाजी मेरे नाम से प्रकाशित की गई है, जिससे उनकी छवि को नुक्सान हुआ है। उन्होंने कहा कि यदि प्रकाशित करने वालों ने अपनी गलती नहीं मानी तो वह मानहानि का मुकद्दमा भी कर सकते हैं।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
× RELATED बेअदबी की घटनाओं के आरोपियों को सख्त सजा दिलवाने तक संघर्ष जारी रहेगा : सिद्धू