सड़क न होने पर डंडे से बांधकर कई किलोमीटर तक कंधे पर ढोया शव

नाहन (सतीश):हिमाचल सरकार के हर गांव को सड़क सुविधा देने के दावे अक्सर कहीं न कहीं जमीनी हकीकत पर धूल फांकते नजर आते हैं। ऐसा ही एक मामला सिरमौर जिला के धारटीधार क्षेत्र की मधाना पंचायत के गांव जगलोट में भी देखने को मिला। एक तो यहां सड़क सुविधा नहीं, ऊपर से यदि कोई बीमार हो जाए तो कई किलोमीटर पैदल चलकर कंधों पर उठाकर मरीज को सड़क तक पहुंचाना पड़ता है। मगर इस बार यहां एक शव को कई किलोमीटर तक पैदल कंधे पर ढोने का मामला सामने आया है। इसके चलते ग्रामीणों ने सरकार, प्रशासन व जनप्रतिनिधियों के प्रति सोशल मीडिया के जरिए अपनी नाराजगी जाहिर की है।


बीमारी के चलते हो गई थी व्यक्ति की मौत
दरअसल बीते रोज बुधवार को बीमारी के चलते 60 वर्षीय संपूर्ण सिंह ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। इसके बाद जब परिजन उसके शव को घर ले जाने के लिए रवाना हुए तो गांव की खस्ताहाल सड़क ने उनके जख्मों को ओर अधिक कुरेद दिया। कोलर से जगलोट गांव तक करीब 4-5 किलोमीटर तक शव को कंधों पर ढोते हुए पहले घर पहुंचाया गया फिर श्मशानघाट तक ले जाने के लिए 3 किलोमीटर की दूरी तय की गई। इसके चलते ग्रामीणों को खासी परेशानी उठानी पड़ी। चूंकि बरसात के कारण यह कच्ची सड़क बेहद खस्ताहाल हो चुकी थी और इस पर वाहन चलाना संभव नहीं था।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
× RELATED संदिग्ध परिस्थितियों में मिला तेंदुए का शव, पोस्टमार्टम रिपोर्ट खोलेगी मौत का राज