एक क्लिक में पढ़ें पंजाब की अब तक की बड़ी खबरें

पंजाब डेस्कःकैप्टन सरकार की VIP प्रदत्त सुरक्षा वाहनों को लेकर जांच ,सरकारी अध्यापक नहीं डाल सकेंगे मनमर्जी के कपड़े। हम आपके लिए लाए हैं ऐसी खबरें जो आप अपने व्यस्त शैड्यूल के चलते मिस कर जाते हैं। इस न्यूज बुलिटेन में हम आपको पंजाब के हर क्षेत्र से जुड़ी बड़ी खबरें बताने जा रहे हैं। तो अब एक क्लिक में पढ़िए पंजाब की अब तक की बड़ी खबरें।

कैप्टन सरकार ने अब VIP को प्रदत्त सुरक्षा वाहनों को लेकर की जांच शुरू

पंजाब में मुख्यमंत्री कै.अमरेन्द्र सिंह के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार ने अब राज्य के वी.वी.आई.पीज को प्रदत्त सुरक्षा वाहनों को लेकर जांच शुरू कर दी है।मुख्यमंत्री ने इसके लिए पहले ही डी.जी.पी. सुरेश अरोड़ा, डी.जी.पी. (इंटैलीजैंस), ए.डी.जी.पी. (सुरक्षा) आर.एन. ढोके व मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक उच्चस्तरीय कमेटी बनाई हुई है।

सरकारी अध्यापक नहीं डाल सकेंगे मनमर्जी के कपड़े, जारी हुआ सख्त फरमान

 पंजाब में सरकारी स्कूलों के अध्यापक अब अपनी मर्जी मुताबिक कपड़े पहन कर स्कूल नहीं जा सकेंगे क्योंकि शिक्षा मंत्री ओ. पी. सोनी ने सख्त फरमान जारी कर दिया है कि अध्यापकों को अब पैंट-कमीज में ही स्कूल आना पड़ेगा। वह कुर्ता पायजामा या केजुअल कपड़े पहन कर स्कूल नहीं आएंगे। शिक्षा मंत्री ने कहा कि अध्यापक नई पीढ़ी के लिए रोल माडल हैं, इसलिए वह पैंट-कमीज में ही स्कूल जाएं न कि कुर्ते-पायजामे में।

नशा करते कैमरे में कैद हुए दो युवक, वीडियो हुआ वायरल

सोशल मीडिया पर इन दिनों होशियारपुर के गांव सतौर का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें चिट्टा पी रहे 2 नौजवानों को गांववासियों ने काबू करके उनकी जमकर धुनाई की। 

संगरूर में 100 करोड़ की लागत से स्थापित होगा बायो-गैस प्लांट

तीन वर्ष से ठंडे बस्ते में पड़े बायो-गैस पर आधारित सी.एन.जी. प्लांट स्थापित करने के प्रोजैक्ट को मुख्यमंत्री ने हरी झंडी दे दी। सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि चाहे पिछली अकाली-भाजपा सरकार ने वर्ष 2015 में जर्मन की वरबीयो कंपनी के साथ इस संबंधी समझौता किया था परंतु अपेक्षित स्वीकृतियां नहीं दी थी। यह मामला गत शाम मुख्यमंत्री के ध्यान में लाया गया, जिस पर उन्होंने इसका तत्काल नोटिस लेते हुए इसको अमलीजामा पहनाने का फैसला लिया। बुधवार को यहां कंपनी के अधिकारियों से मीटिंग के दौरान मुख्यमंत्री ने वरबीयो के डायरैक्टर ओलिवर लियूटडके को स्वीकृति पत्र सौंपा।

मजीठिया सहित गायकों की सुरक्षा में कटौती

पंजाब सरकार ने एक बड़ा कदम उठाते हुए सूबे के कई राजनीतिक-धार्मिक नेताओं, गायकों और अन्य लोगों की वी.आई.पी. सुरक्षा में कटौती कर दी है। वहीं कुछ नेताओं से सुरक्षा पूरी तरह वापस ले ली। समीक्षा के बाद राज्य पुलिस द्वारा की गई सिफारिश पर यह फैसला लिया गया है।