सूर्य ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाएं न करें ये काम, बच्चे को हो सकता है नुकसान

हमारे देश की ज्यादातर संख्या रीति-रिवाज और परंपराओं को अपनी लाइफस्टाइल का हिस्सा मानती हैं। सूर्य ग्रहण को लेकर तो बहुत से परहेज किए जाते हैं खास कर तब जब कोई महिला गर्भवती हो। हिंदू शास्त्रों के मुताबिक ग्रहण के समय गर्भवती महिला और उसके बच्चे को इसकी छाया से बचाना बहुत जरूरी है। अगर कोई प्रेग्नेंट महिला सूर्य ग्रहण देख ले तो उसके होने वाले बच्चे पर इसका बुरा असर पड़ता है। 


इस बार 13 जुलाई को साल का दूसरा सूर्यग्रहण लगने वाला है। जो भारतीय समयानुसार सुबह 7 बजकर 18 मिनट 5 सैकेंड तक रहने वाला है। इस समय आप भी गर्भवती है तो खुद का ख्याल रखना बहुत जरूरी है ताकि मान्यताओं के अनुसार आप और गर्भ में पल रहा बच्चा सुरक्षित रहे। आइए जानें इस दौरान प्रेग्नेंट महिलाएं किन बातों का रखे खास ख्याल। 

 

1. ऐसा माना जाता है कि अगर गर्भवती महिला सूर्य ग्रहण को देख लेती है तो इसकी छाया का सीधा असर उसके बच्चे पर पड़ता है। जिससे उसके शरीर पर निशान या फिर कोई शारीरिक विकार पैदा हो सकता है। 

 

2. ग्रहण के दौरान जब तक इसकी छाया खत्म नहीं हो जाती गर्भवती महिला को नकीली चीज को छूना भी मना होता है। अगर वह इस समय कैंची,चाकू या फिर कोई और नुकीली चीज का इस्तेमाल करती है तो बच्चे के अंगों को हानि हो सकती है। इस बात का खास ख्याल रखना बहुत जरूरी है। 

 

3. ऐसा भी माना जाता है कि इस समय दौरान अगर गर्भवती महिला सुई का इस्तेमाल करे तो बच्चे के दिल में छेद होने का डर रहता है। 

 

4. शास्त्रों के अनुसार कुछ खाने पीने की इस समय मनाही होती है। अगर गर्भवती इस समय पानी पीती है तो शिशु की त्वचा शुष्क हो सकती है। 

 

5. ग्रहण के दौरान महिला को पाठ करने की सलाह दी जाती है। किसी शारीरिक क्रिया को करना इस समय मना होता है। वह मुंह में तुलसी रखकर दुर्गा स्तुति का पाठ कर सकती है। 

 

6. सूर्य ग्रहण खत्म होने बाद इसकी छाया को खुद से दूर करने के लिए गर्भवती महिला को पानी में गंगाजल डालकर नहाने की सलाह दी जाती है। 


 

× RELATED Health Update: स्किन और हाइट भी बनती है कैंसर की वजह - Nari