दाती महाराज ने तोड़ी चुप्पी, कहा- अपराध साबित हुआ तो फांसी के लिए तैयार

नई दिल्ली: दुष्कर्म और कुकर्म के आरोपों में घिरने वाले शनिधाम के संस्थापक दाती महाराज ने चुप्पी तोड़ दी है, लेकिन फिलहाल वह अंडरग्राउंड भी हो गए हैं। एक मीडिया हाउस को दाती महाराज ने अपनी सफाई दी है। इसमें उन्होंने खुद पर लगे आरोपों को आधारहीन बताया है। उन्होंने कहा कि किसी साजिश के तहत ही उन्हें फंसाया जा रहा है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि अगर मेरा अपराध साबित हुआ है तो मैं फांसी के लिए तैयार हूं। इस मामले में कानून अपना काम कर रहा है। जांच पूरी होने के बाद ही वह आगे की कार्यवाही करेंगे। दाती महाराज ने बताया कि दिल्ली से बाहर हैं। शनिधाम के संस्थापक ने कहा कि कुछ कारोबारियों को उनके संगठन से विवाद था। इसी लेकर साजिशन यह विवाद खड़ा किया गया है। उन्होंने कहा कि ईश्वर सब कुछ देख रहा है। बकौल दाती महाराज, ' मैं देश के जिया हूं और इसके लिए ही कर्म कर रहा हूं। नमो नारायण।' 
PunjabKesariआरोपी स्वयंभू बाबा के खिलाफ जारी किया लुकआउट सर्कुलर      
वहीं दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने आरोपी स्वयंभू बाबा के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी किया है। जिला पुलिस से मामले की जांच कल ही अपराध शाखा को सौंपी गयी है। पुलिस ने बताया कि महिला ने स्वयंभू बाबा दाती महाराज के खिलाफ रविवार को दक्षिण दिल्ली के फतेहपुर बेरी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करायी थी। महिला ने पुलिस को बताया कि वह स्वयंभू बाबा की एक दशक से शिष्य रही है लेकिन दाती महाराज और उसके दो शिष्यों द्वारा उसके साथ कथित रूप से बलात्कार किए जाने के बाद वह अपने गृह प्रदेश राजस्थान लौट गयी। पुलिस ने बताया कि उसने आज मजिस्ट्रेट के सामने पीड़िता का बयान दर्ज कराया।  PunjabKesariउसने कहा कि स्वयंभू बाबा देश छोड़कर फरार न हो जाए , यह सुनिश्चत करने के लिए लुकआउट सर्कुलर जारी किया गया है। युवती ने पुलिस को बताया कि वह करीब एक दशक से महाराज की अनुयायी थी। लेकिन महाराज और चेलों द्वारा बार-बार बलात्कार किये जाने के बाद वह अपने घर राजस्थान लौट गई थी। युवती ने आरोप लगाया है कि बाबा की एक अन्य महिला अनुयायी उसे महाराज के कमरे में जबरन भेजती थी। मना करने पर धमकाती थी कि वह सभी से कहेगी कि पीड़िता अन्य चेलों के साथ भी यौन संबंध बनाती है।
      PunjabKesari

× RELATED नौकरी दिलाने का झांसा दे दोस्त संग मिलकर छात्रा को बनाया हवस का शिकार