बंगले में तोड़फोड़ मामले पर बोले अखिलेश, गवर्नर के अंदर घुसी है RSS की आत्मा

लखनऊ:उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सरकारी बंगले में तोड़फोड़ के मामला के तूल पकड़ने के बाद संवाददाता सम्मेलन में सफाई दी। उन्होंने इस मामले में कार्रवाई के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बुधवार को पत्र लिखने वाले राज्यपाल राम नाईक पर भी संविधान के अनुरूप काम ना करने का आरोप लगाते हुए कहा कि उनके अंदर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की आत्मा है। अखिलेश ने कहा कि इन दिनों सोशल मीडिया पर चर्चा है कि हम अपने सरकारी बंगले को खाली करने के दौरान टोटियां खोल ले गए और फर्श का पत्थर तोड़ डाला। यह सरासर गलत है और यह सब मुझे बदनाम करने के लिए ही किया गया है। इसमें कुछ अधिकारी भी शामिल हैं।

सपा अध्यक्ष ने कहा कि उन्होंने अपने बंगले में जिम और स्टील का ढांचा लगवाया था। अब वह उसे अपने घर में इस्तेमाल करना चाहते हैं। भाजपा मीडिया का सहारा लेकर उन्हें बदनाम करना चाहती है। अखिलेश ने कहा कि भाजपा यह इसलिए कर रही है क्योंकि वह गोरखपुर और फूलपुर की हार स्वीकार नहीं कर पा रही है। वह यह समझ ले कि इस अपमान के लिए जनता उसे सबक सिखाएगी। सपा अध्यक्ष ने कहा कि अधिकारी नम्बर बढ़ाने की होड़ कर रहे हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री योगी के सचिव विशेष कार्याधिकारी अभिषेक कौशिक और आईएएस अधिकारी मृत्युंजय नारायण का नाम लेते हुए कहा कि मीडिया यह बताए कि आखिर उसके पहुंचने से पहले बंगले में कौन अधिकारी पहुंचे थे। किसने वहां की वीडियो बनाई और किसने चीजों को मीडिया में अपने मुताबिक फैलाया।

उन्होंने कहा कि कुछ लोग कह रहे हैं कि मैंने बंगले पर 42 करोड़ रुपए खर्च किए। लेकिन जिसे टूटे हुए स्विमिंग पूल की तस्वीरें वायरल हो रही हैं, वह तो बंगले में मौजूद ही नहीं हैं। अधिकारियों को याद रखना चाहिए कि सरकारें बदलती रहती हैं। मैं उनसे (भाजपा) कहना चाहता हूं कि यही अधिकारी तब भी कुछ ढूंढेंगे जब आप अपना घर खाली करेंगे। वहीं दूसरी तरफ यूपी सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने अखिलेश के संवाददाता सम्मेलन के तुरंत बाद बुलाई गई पत्रकार वार्ता में कहा कि अखिलेश कह रहे कि उन्होंने बंगले में निर्माण कार्य अपने खुद के पैसे से करवाए हैं। अब आयकर विभाग को चाहिए कि वह इस मामले की जांच करे कि जो पैसे मकान में लगाए जाने की बात वह कर रहे हैं उसका कोई हिसाब किताब भी है या नहीं। सिंह ने कहा कि मैं एक मुहावरा कहूंगा ‘खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे’।

× RELATED वाजपेयी का निधन भारत की राजनीति के महायुग का अवसान है: योगी, नाइक