CM बनने के बाद पहली बार बोले येदियुरप्पा

नेशनल डेस्क: कर्नाटक के मुख्यमंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बी एस येद्दियुरप्पा ने शपथ लेने के बाद अपने पहले बयान में कांग्रेस पर जमकर भड़ास निकाली। उन्होंने आरोप लगाया कि जनता दल (सेक्यूलर) और कांग्रेस के नवनिर्वाचित विधायकों को बेहद खराब परिस्थितियों में कैद में रखा गया है जहां उन्हें किसी किस्म की आजादी नहीं है। 
PunjabKesari
कांग्रेस पर साधा निशाना 
येद्दियुरप्पा ने पार्टी के नवनिर्वाचित विधायकों तथा पार्टी कार्यकर्ताओं को अपने पहले संबोधन में खुफिया रिपोर्टाें का हवाला देते हुए कहा कि दोनों दलों के विधायकों को अपने परिवार के सदस्यों से भी संपर्क करने की इजाजत नहीं है तथा सभी के मोबाइल फोन भी छीन लिये गये हैं। उन्होंले कहा कि इस प्रकार के प्रयास भाजपा को विश्वास मत के दौरान बहुमत हासिल करने से रोक नहीं पायेंगे। वह राज्यपाल की ओर से दी गयी 15 दिनों की समय सीमा के भीतर ही विधानसभा में अपना बहुमत साबित कर देंगे। उन्होंने विधायकों से अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों में जाकर मतदाताओं को उनके जनादेश के लिए आभार व्यक्त करने की अपील की। 
PunjabKesari
विधायकों को दी एकजुट रहने की सलाह
नवनिर्वाचित सीएम ने कहा कि विधानसभा के सत्र की तिथि तय होने पर विधायकों को अल्पावधि में बुलाया जा सकता है जिसके लिए उन्हें तैयार रहना चाहिए। उन्होंने विपक्षी सदस्यों द्वारा विधानसभा की कार्यवाही में बाधा डालने के प्रयास किये जाने की आशंका व्यक्त करते हुए कहा कि संसद में ऐसी कोशिशें की जा रही हैं। उन्होंने पार्टी विधायकों को सरकार का सुचारु संचालन सुनिश्चित करने के लिए एकजुट रहने की सलाह दी।
PunjabKesari
किसानों का ऋण करेंगे माफ
येद्दियुरप्पा ने कहा कि चुनावी घोषणा पत्र में किये गये वादे के मुताबिक किसानों तथा बुनकरों के फसल ऋण को माफ करना उनकी सर्वाेच्च प्राथमिकता होगी तथा इस संबंध में एक-दो दिन में निर्णय ले लिया जाएगा। इसी प्रकार अन्य चुनावी वादों को भी लागू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पार्टी को विधान परिषद या उप चुनावों में हार का सामना नहीं करना चाहिए तथा अगले वर्ष होने वाले आम चुनाव में राज्य की सभी 28 लोकसभा सीटों पर जीत सुनिश्चित कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों को मजबूती प्रदान करनी चाहिए।