HRTC के चालक की गुंडागर्दी, चेकिंग के दौरान इंस्पैक्टर पर जड़े थप्पड़- Suspend (Video)

शिमला (राजीव): शिमला में अब चालकों द्वारा धुनाई करने से इंस्पैक्टर तक को भी नहीं बख्शा जा रहा है। जहां चालकों की रोजाना आपसी लड़ाई होती है वहीं बुधवार को एक चालक ने एच.आर.टी.सी. के इंस्पैक्टर को थप्पड़ मार दिया। हुआ यूं कि जब एच.आर.टी.सी. की टैक्सी समरहिल से सी.टी.ओ. आ रही थी तो उसके पास इंस्पैक्टर चैकिंग के लिए खड़े थे। ऐसे में जब उसने एच.आर.टी.सी. के चालक ज्योति सिंह से टिकट काटने की मशीन मांगी तो चालक ने मशीन देने से मना कर दिया। बताया जा रहा है कि उस समय चालक ने एक भी सवारियों की टिकट नहीं बनाई थी। जब इंस्पैक्टर ने मशीन को लेना चाह तो उसी समय चालक ने सवारियों की टिकट बनाई।
PunjabKesari

इंस्पैक्टर ने जब चालक से टिकट काटने को लेकर पूछा कि आप टिकट को अब क्यों बना रहे हो, इससे पहले टिकट क्यों नहीं बनाई गईं। ऐसे में चालक ने इंस्पैक्टर की बिल्कुल भी नहीं सुनी और एकदम से दोनों के बीच कहासुनी हो गई। दोनों के बीच कहासुनी कुछ इस तरह से हुई कि चालक ने एकदम इंस्पैक्टर को थप्पड़ जड़ दिया। ऐसे में उसने इसकी शिकायत पुलिस को दी। पुलिस भी उस दौरान मौके पर पहुंची और चालक को मैडीकल के लिए आई.जी.एम.सी. ले गई। पुलिस ने चालक का मैडीकल करवाया है। पुलिस को शक हुआ कि शायद चालक नशे में था, लेकिन इसकी पुष्टि तो रिपोर्ट आने के बाद ही हो पाएगी। पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया है। पुलिस के पास इंस्पैक्टर सहित चालक ने भी शिकायत दर्ज करवाई है। पुलिस मामले की गंभीरता से छानबीन कर रही है।
PunjabKesari

उधर, एच.आर.टी.सी. प्रशासन ने चालक को निलंबित कर दिया है। जब इंस्पैक्टर को थप्पड़ मारा गया तो इसकी सूचना इंस्पैक्टर ने एच.आर.टी.सी. के प्रबंधक को दी थी। प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए चालक के खिलाफ सख्त निर्णय लेते हुए उसे निलंबित करने का निर्णय लिया। अब चालक एच.आर.टी.सी. में अपनी सेवाएं नहीं दे सकता है। वहीं पुलिस पुख्ता सबूत जुटाने के लिए सी.सी.टी.वी. फुटेज को भी खंगाल सकती है। 
PunjabKesari

इंस्पैक्टर पर गाली-गलौच करने का आरोप
पुलिस को दी शिकायत में टैक्सी चालक ज्योत सिंह ने आरोप लगाया है कि इंस्पैक्टर ने उनके साथ गाली-गलौच किया, जिस कारण यह लड़ाई हुई है। शिकायत में चालक ने यह भी साफ कहा कि उसने टिकट बनाई थीं। हालांकि इंस्पैक्टर ने टैक्सी के स्थान पर पहुंचने के बाद ही टिकट बनाने का आरोप लगाया है। इंस्पैक्टर का कहना है कि जब मशीन मांगी तो तभी टिकट बनाई गई हैं। 

× RELATED दुकान घोटाले मामले में डी.एम. हमीरपुर सस्पैंड, पढ़ें खबर